--Advertisement--

5 साल दिखे नहीं, अब ‘24 घंटे सेवा में हाजिर’, सोशल मीडिया पर शुरू किया वोटरों को लुभाना

पिछले 5 सालाें में कभी पब्लिक को दिखे हों, वो अब अचानक “24 घंटे सेवा में हाजिर’ हो चुके हैं।

Dainik Bhaskar

Dec 30, 2017, 05:43 AM IST
Mobilizing voters launched on social media

लुधियाना. वॉर्डबंदी हो गई। वॉर्डों की गिनती 75 से बढ़ 95 हो गई। एेतराज मांगे लिए और जल्द ही चुनाव घोषित होंगे। मगर, नई वॉर्डबंदी से बदले समीकरण देख कौंसलर बनने के इच्छुकों की बाढ़ सी आ गई है। हां, पर जमीन से ज्यादा फेसबुक-व्हॉट्सएप यानि सोशल मीडिया पर। हालात ये हैं कि जो शायद ही पिछले 5 सालाें में कभी पब्लिक को दिखे हों, वो अब अचानक “24 घंटे सेवा में हाजिर’ हो चुके हैं।


अचानक जागे सेवा भाव का सुबूत भी वो फेसबुक पर पोस्ट कर रहे हैं। कोई आधार कार्ड बनवा रहा है तो कोई सफाई करवा रहा है। कोई सड़क ठीक करा रहा है तो कोई सीवरेज सफाई का दावा कर रहा है। कुछ तो ऐसे भी हैं जो सिर्फ हाथ जोड़कर फोटो खिंचवाकर ही काम चला रहे हैं।
कुछ चुनाव से कुछ वक्त पहले इस कदर सेवा भावना से भर चुके हैं कि लोगों को उनकी दुख-तकलीफें बताने की ‘गुजारिश’ करते फिर रहे हैं। शहर के भीतर अचानक सेवा करने वालों की गिनती बढ़ी देख लोग भी हैरान हैं। हालांकि कुछ ऐसे भी हैं जो सेवा का दम भरने से पहले अपनी सियासी कद-काठी को ठोक-बजाकर देख लेना चाहते हैं ताकि चुनाव के बाद शिकस्त न हो। वहीं, क्रिसमस के बाद नए साल की बधाई देते पोस्टर-बैनर भी जगह-जगह लगा दिए गए हैं। बहरहाल, यह लोग हकीकत में कितने कामयाब होंगे, यह तो बाद में पता चलेगा लेकिन फेसबुकिया सेवा के दावों के आगे ये किसी को टिकने नहीं दे रहे।

खुद को दी टिकट, एमएलए की फोटो लगा दफ्तर भी खोला

निगम चुनाव का अभी ऐलान नहीं हुआ है, इसलिए बड़ी राजनीतिक पार्टियाें ने दावों से दूरी बना रखी है। कैंडिडेट्स का चुनाव व घोषणा तो अभी दूर की बात है। मगर, चुनावी मौसम की इस सेवा के कुछ इच्छुक तो इस कदर उत्साहित हैं कि उन्होंने खुद को ही टिकट आवंटित कर दी है। असल में जिस वॉर्ड से वो लड़ने के इच्छुक हैं, वहां बैनर-पोस्टर लगा सेवा का मौका मांगने लगे हैं। साथ में ऊपर एमएलए की फोटो लगा दी है और दफ्तर तक खोल दिया है। साफ है यह पार्टी व नेता पर प्रभाव जमाने की कोशिश है। कई जगह तो पति-पत्नी ने ही बैनर लगा दो वार्डों पर अपनी दावेदारी जता दी है। हालांकि कामयाब कितने होते हैं, यह तो बाद में पता चलेगा।

X
Mobilizing voters launched on social media
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..