--Advertisement--

विदेश से आए भाई से कराता था तस्करी, जेल में फेसबुक से ऐसे चलाता था नेटवर्क

तस्कर ने विदेश से पढ़ कर आए अपने सगे भाई को हेरोइन लाने और ग्राहकों को डिलीवरी देने के लिए इस्तेमाल करना शुरू कर दिया।

Dainik Bhaskar

Dec 19, 2017, 04:49 AM IST
Smuggled with brother who come from abroad

लुधियाना. जेलों में बंद गैंगस्टर और नशा तस्कर अंदर से ही मोबाइलों पर पूरा नेटवर्क चला रहे हैं। इन पर काबू पाने के लिए जेल प्रशासन के दावे लगातार खोखले साबित हो रहे हैं। एंटी नारकोटिक्स सेल पुलिस ने 27 लाख रुपए की हेरोइन समेत एक तस्कर को काबू कर ऐसे ही मामले का खुलासा किया है, जिसमें NDPC मामले में 10 साल की सजा काट रहे तस्कर ने मोबाइल की मदद से हेरोइन तस्करी का पूरा नेटवर्क खड़ा कर लिया है। इंटरनेट कॉलिंग से खड़ा किया नेटवर्क...

- तस्कर ने विदेश से पढ़ कर आए अपने सगे भाई को हेरोइन लाने और ग्राहकों को डिलीवरी देने के लिए इस्तेमाल करना शुरू कर दिया।
- जेल में बंद तस्कर सेवक नगर ढोलेवाल का रहने वाला मोहित वर्मा है।
- पुलिस ने उसके भाई बानिश वर्मा को 53 ग्राम हेरोइन समेत काबू कर थाना सदर में NDPC एक्ट का मामला दर्ज किया है।
- पुलिस ने मोहित वर्मा को भी मामले में नामजद किया है और उसे प्रोडक्शन वॉरंट पर लाकर पूछताछ की जाएगी जिसमें कई बड़े खुलासे होने की संभावना है।
- एंटी नारकोटिक्स सेल पुलिस साइबर सेल की मदद से इंटरनेट कॉलिंग का रिकॉर्ड भी चेक करवाएगी।

19 साल की उम्र में पकड़ा था मोहित, बानिश भी 19 का
- जेल में बंद आरोपी मोहित वर्मा को एंटी नारकोटिक्स सेल पुलिस ने 700 ग्राम नशीले पाउडर के साथ पकड़ा था।
- उस समय वह 19 साल का था। इस मामले में उसे 10 साल की कैद हुई है, जिसमें से करीब पांच साल सजा वह भुगत चुका है।
- अब उसके छोटे भाई बानिश को भी एंटी नारकोटिक्स सेल पुलिस ने काबू किया है।
- इस समय उसकी उम्र भी 19 साल है। एंटी नारकोटिक्स सेल पुलिस ने उसके पास से 27 लाख रुपए की हेरोइन भी बरामद की है।

नाकाबंदी करके पकड़ा

- एंटी नारकोटिक्स सेल इंचार्ज इंस्पेक्टर सुरिंदर पाल सिंह के अनुसार 17 दिसंबर को उन्होंने पुलिस पार्टी के साथ फुल्लांवाल चौक में नाकाबंदी की थी। वहां से बाइक पर निकल रहा आरोपी पुलिस को देख घबरा गया और बाइक मोड़ने की कोशिश की।

- शक होने पर पुलिस पार्टी ने आरोपी को काबू कर तलाशी ली तो उससे हेरोइन बरामद हुई।

- पूछताछ में आरोपी ने बताया कि जेल में बंद उसका भाई ही उसे बताता है कि हेरोइन कहां से लानी है और किसे डिलीवरी देनी है।

आगे की स्लाइडस में पढ़ें कि कैसे जेल में बैठ इंटरनेट से चला रहा था नेटवर्क...

Smuggled with brother who come from abroad
Smuggled with brother who come from abroad
Smuggled with brother who come from abroad
Smuggled with brother who come from abroad
Smuggled with brother who come from abroad
X
Smuggled with brother who come from abroad
Smuggled with brother who come from abroad
Smuggled with brother who come from abroad
Smuggled with brother who come from abroad
Smuggled with brother who come from abroad
Smuggled with brother who come from abroad
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..