--Advertisement--

मरने से पहले मजिस्ट्रेट को दिया बयान, पति करता था ऐसा इसलिए खाया जहर

मरने से पहले बोली- मेरी 11 महीने की बेटी को नानी को ही दिया जाए।

Danik Bhaskar | Dec 22, 2017, 07:01 AM IST

दसूहा(होशियारपुर). घरेलू कलह मारपीट से परेशान शादीशुदा महिला ने बुधवार सुबह जहरीली दवा निगल ली। गंभीर हालत में उसे निजी हॉस्पिटल में एडमिट करवाया गया, जहां उसकी हालत देखते हुए हॉस्पिटल मैनेजमेंट ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मौके पर मजिस्ट्रेट को बुलाकर महिला के बयान दर्ज करवाए। बयान दर्ज करवाने के कुछ देर बार रात करीब 10 बजे महिला की मौत हो गई।

बयान देने के बाद महिला ने दम तोड़ दिया

दसूहा पुलिस स्टेशन में दर्ज एफआईआर अनुसार दसूहा सिविल कोर्ट के मजिस्ट्रेट रेनू गोयल को दिए बयानों में दसूहा के गांव चक्क कासम की 29 वर्षीय महिला मेनका पत्नी पृथीपाल सिंह ने बताया कि उसकी ग्यारह माह की बेटी भी है। पुलिस ने महिला की गंभीर हालत देखते हुए दसूहा सिविल कोर्ट के मजिस्ट्रेट को बयानों के लिए बुलाया। बयान देने के बाद महिला ने दम तोड़ दिया।

मेनका के साथ उसकी मां को भी पीटा था
मेनकाके भाई विक्रम सिंह वासी गांव घासीपुर, होशियारपुर ने बताया कि मेनका की शादी 2015 में चक्क कासम के प्रिथीपाल सिंह से हुई थी। प्रिथीपाल के पहले दो तलाक हो चुके थे। मेनका के बीमार होने के कारण उनकी माता रानी मेनका के पास आई हुई थी। वीरवार सुबह करीब 9 बजे किसी बात को लेकर मेनका और प्रिथीपाल में कहासुनी हो गई। माता के समझाने पर प्रिथीपाल ने दोनों से मारपीट की।

पति को पकड़ने के लिए कर रहे हैं छापेमारी

आईओ भूपिंदर सिंह ने बताया कि मृतका के मजिस्ट्रेट के समाने दिए बयानों के आधार पर केस दर्ज कर लिया गया है। आरोपी पति घर से फरार है जिसको पकड़ने के लिए छापेमारी की जा रही है।

आगे की स्लाइड्स में पढ़ें पूरा मामला...