--Advertisement--

गांव की लड़की लेकर भागा लड़का, पुलिस ने मां-बाप को पीटा तो दोनों नहर में कूदे

करीब 5 महीनों से अमरदास के माता-पिता को थाने में बुलाकर पूछताछ की जा रही थी।

Danik Bhaskar | Dec 27, 2017, 06:35 AM IST
डेमोफोटो डेमोफोटो

लुधियाना. डेहलों के गांव खटड़ा चौहारम में करीब दस महीने पहले गांव की एक नाबालिग लड़की को लेकर लड़का भाग गया। लड़के का कोई सुराग मिलने पर पुलिस उसके मां-बाप को थाने बुलाकर पूछताछ करने लगी। अपमानित महसूस करने पर महिला ने रविवार और पत्नी की तलाश कर रहे पति ने सोमवार को जगेड़ा नहर पुल के पास छलांग लगा दी। अभी तक दंपति का कोई सुराग नहीं मिला है।

जानकारी के अनुसार अमरजीत सिंह (63) इलाके के एक स्कूल में चपरासी था। पत्नी गुरमेल कौर घर पर ही रहती थीं। दस महीने पहले बेटा अमरदास (26) गांव की नाबालिग लड़की को भगाकर ले गया। लड़की वालों ने थाना डेहलों में अमरदास के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया था। करीब 5 महीनों से अमरदास के माता-पिता को थाने में बुलाकर पूछताछ की जा रही थी। गांव के पूर्व पंच सिकंदर सिंह ने बताया कि कुछ दिन पहले डेहलों थाने में अमरजीत सिंह, गुरमेल कौर तथा अमरदास के चचेरे भाई को ले जाकर सख्ती से पूछताछ की गई। अमरदास तथा लड़की की तलाश में गुरमेल कौर को जालंधर भी ले जाया गया था, लेकिन कोई सुराग नहीं मिला था। इस दौरान अमरजीत सिंह और गुरमेल कौर को थाने में पीटा भी गया।

शनिवार की रात तक दोनों थाने में ही मौजूद थे। पुलिस ने उसे बुलाकर दोनों को वहां से भेज दिया था और रविवार को दोबारा बुलाया था। अपमान महसूस कर रही गुरमेल कौर रविवार को थाने की बजाए सीधे नहर पुल पर गई। वहां अपनी चप्पलें और शॉल छोड़ते हुए छलांग लगा दी। गांव के लोग तथा रिश्तेदार उसकी तलाश में नहर पुल पर बैठे थे। अगले दिन रिश्तेदारों के बीच बैठे अमरजीत सिंह ने भागकर उनके सामने ही नहर में छलांग लगा दी।

अमरदास के खिलाफ मामला दर्ज है। उसकी तलाश के लिए कानूनन उसके माता-पिता को बुलाकर पूछताछ की गई थी। किसी प्रकार की मारपीट नहीं की गई थी। दोनों के नहर में कूदने की सूचना नहीं है। - कंवलजीत सिंह, एसएचओ, थाना डेहलों