--Advertisement--

दीवार तोड़ घुसे चोर ; छुट्‌टी होने से तीन दिन बैंक में रहे, बैंक में बनाकर पी थी चाय

दुकान में सेंध लगाकर दो गैस सिलेंडर चुराए।

Dainik Bhaskar

Dec 27, 2017, 04:03 AM IST
thief breaks wall and stay in the bank for three days

लुधियाना. ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के साथ ही बंद पड़ी फैक्टरी की तरफ से दीवार तोड़कर चोर बैंक में घुस गए। तीन दिन तक बैंक में चोर गैस कटर से स्ट्रॉन्ग रूम काटने की कोशिश करते रहे, लेकिन नाकाम रहे। स्ट्रॉन्ग रूम में करीब 25 लाख रुपए कैश पड़ा था। चोर बैंक में नाइट्रोजन और ऑक्सीजन के दो बड़े गैस सिलेंडर छोड़ फरार हो गए। शातिर चोरों ने बैंक में घुसकर सीसीटीवी कैमरे, एमरजेंसी अलार्म, सायरन और फायर सिस्टम की तारें काट दीं। इसके बाद उन्होंने फैक्टरी के साथ लगती वेल्डिंग की दुकान में सेंध लगाकर दो गैस सिलेंडर चुराए और बैंक ले जाकर स्ट्रॉन्ग रूम काटने की कोशिश की।

मंगलवार सुबह जब बैंक का सिक्योरिटी गार्ड रघुबीर सिंह और सफाई कर्मी आए तो उन्हें घटना का पता चला। पुलिस ने बैंक के सीनियर मैनेजर एसएम टंडन के बयानों पर मामला दर्ज कर लिया है। बीते शुक्रवार की रात करीब सात बजे मुलाजिम बैंक बंद करके चले गए। जबकि बैंक के बाहर मौजूद एटीएम रूम खुला रहता है। तीन दिन की छुट्टी होने के कारण बैंक बंद पड़ा था। इसी बात का फायदा उठाकर शनिवार को घुसे चोरों ने वारदात को अंजाम देने की कोशिश की। ओबीसी बैंक से लेकर सूफियां चौक तक रोड पर अलग-अलग बैंकों की 10 ब्रांचें है। जबकि 9 एटीएम बने हुए हैं। इसके अलावा ओबीसी बैंक के साथ ही उसकी चेस्ट ब्रांच भी है। इसके बाद भी पुलिस की गश्त के बराबर है।

गैस सिलेंडर खाली होने से फेल हो गई प्लानिंग
चोरों ने वेल्डिंग की दुकान से नाइट्रोजन और ऑक्सीजन के दो गैस सिलेंडर तो चुरा लिए, लेकिन उसमें से ऑक्सीजन का खाली होने के चलते बचाव हो गया। दुकान मालिक अश्वनी बिंद्रा ने बताया कि गैस कटर के लिए ऑक्सीजन और एलपीजी गैस चाहिए होती है। लेकिन चोर जो सिलेंडर लेकर गए वो खाली था। जबकि उन्होंने नाइट्रोजन सिलेंडर भी खोला हुआ था, लेकिन उससे आग लगने के कारण वह सिलेंडर वहीं छोड़ गए। अश्वनी ने बताया कि उनकी दुकान में गैस कटर का सामान नहीं है। जिससे आशंका है कि चोर कटर अपने साथ ही लेकर आए थे।


30 कदमों पर नाका, 100 मीटर पर चौकी

ओबीसी बैंक से करीब 30 कदमों की दूरी पर 6 पुलिस मुलाजिम 24 घंटे स्पेशल नाकाबंदी कर मौजूद रहते हैं। जबकि दूसरी तरफ 100 मीटर के करीब दूरी पर चौकी जनकपुरी मौजूद है। इसके बाद भी बेखौफ चोर तीन दिन वारदात करते रहे। यहां तक कि पुलिस मुताबिक पीसीआर मुलाजिम हर एक घंटे बाद बैंक के बाहर एटीएम पर चेकिंग करने आते हैं।

वेल्डिंग की दुकान में चोरी का पुलिस को नहीं था पता
अश्वनी कुमार ने बताया कि वे मंगलवार सुबह दुकान पर आए और सेंध लगी देखी। उन्होंने जनकपुरी चौकी मेंं जाकर चोरी के बारे में बताया तो उन्होंने कहा कि आपके साथ बैंक में भी चोरी हुई है। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची तो उन्हें पता चला कि उक्त सिलेंडर उनकी दुकान से ही चुराए गए थे।

सेंध लगाकर सीधे बैंक के मीटिंग रूम में पहुंचे चोर
ओबीसी बैंक के अंदर लगे सीसीटीवी की वायरिंग को दो हिस्सा में बांटा हुआ है। फैक्टरी मालिक निपुन अग्रवाल भी वहां कम ही चक्कर लगाते हैं।

thief breaks wall and stay in the bank for three days
thief breaks wall and stay in the bank for three days
thief breaks wall and stay in the bank for three days
thief breaks wall and stay in the bank for three days
thief breaks wall and stay in the bank for three days
X
thief breaks wall and stay in the bank for three days
thief breaks wall and stay in the bank for three days
thief breaks wall and stay in the bank for three days
thief breaks wall and stay in the bank for three days
thief breaks wall and stay in the bank for three days
thief breaks wall and stay in the bank for three days
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..