--Advertisement--

पंचम गैंग ने जा रहे दो युवकों को पहले गाड़ी से टक्कर मारी, फिर किया फायर

पंचम गैंग के लोगों ने बाइक सवार दो युवकों पर हमला कर दिया। फायर भी किया।

Dainik Bhaskar

Dec 30, 2017, 06:03 AM IST
घटनास्थलपर प्रिंस से जानकारी लेते पुलिस अधिकारी। घटनास्थलपर प्रिंस से जानकारी लेते पुलिस अधिकारी।

होशियारपुर. दोपहर जब एसएसपी एक अहम मामले को लेकर प्रेसवार्ता कर रहे थे तो उसी समय होशियारपुर-चिंतपूर्णी रोड पर आदमवाल के पास पंचम गैंग के लोगों ने बाइक सवार दो युवकों पर हमला कर दिया। फायर भी किया। वारदात करीब साढ़े 12 बजे की है।

फायर की आवाज सुन आसपास से रेहड़ीवाले लोग रेहड़ियां छोड़कर भाग गए। जालंधर के रस्ता मोहल्ला के प्रिंस ने बताया कि वह दोस्त गौरव निवासी माई हीरा गेट (जालंधर) के साथ माता चिंतपूर्णी जा रहे थे। चिंतपूर्णी रोड पर पंचम गैंग के लोगों ने पीछा किया। इसे देख वह वापस जालंधर की ओर मुड़ गए, लेकिन पंचम के लोग पीछा करते रहे। उनके साथ एक और गाड़ी भी गई। आदमवाल के पास दोनों गाड़ियों में बैठे युवकों ने रुकने के लिए कहा। नहीं रुके तो गाड़ी से बाइक को टक्कर मार दी। पिस्टल से फायर कर डाले। वह दोनों सड़क किनारे खेत में जा गिरे।

दोस्त गौरव गंभीर घायल हो गया। वह जान बचाने के लिए खेतों से होता हुआ गांव आदमवाल पहुंचा और वहां लोगों से मदद मांगी, लेकिन कोई मदद के लिए नहीं आया। वह तुरंत सरपंच सत्ती के पास पहुंचा। सरपंच ने उसे छुपाकर रखा। पंचम गैंगस्टरों की ओर से गौरव और प्रिंस पर हमले की जानकारी सदर पुलिस को मिली तो तुरंत पुलिस बल के साथ थानाध्यक्ष राजेश अरोड़ा घटनास्थल पर पहुंच गए। सूचना मिलने पर एसपी हरप्रीत मंडेर डीएसपी सुखविंदर सिंह प्रिंस के पास पहुंचे और युवक से घटना की जानकारी ली।

पंचम भालू गैंग में दुश्मनी
कभी पंचम और गुरशरण उर्फ भालू गहरे दोस्त थे। विवाद हुआ तो दोनों में दुश्मनी हो गई। दोनों ग्रुप एक-दूसरे के लोगों पर हमला करते। मारपीट की वीडियोग्राफी करते और सोशल मीडिया पर डाल दुश्मनों में डर पैदा करते। पुलिस सूत्रों का कहना है कि प्रिंस गौरव पर हमला जहां जानलेवा था, वहीं पंचम ग्रुप ने दोनों का अपहरण करना था। जहां भालू गैंग का मुखी गुरशरन भालू जेल में है, वहीं पंचम ग्रुप की दहशत बढ़ाने के लिए ऐसी वारदातों को अंजाम दे रहा है। कुछ महीने पहले पंचम को अपहरण मामले में हाईकोर्ट से बेल मिली है। भोलू गैंग की आंखों में पंचम के खटकने की बड़ी वजह यह है कि आम गैंगस्टर ग्रुपों में धारणा है कि सुक्खा कालवहां गैंग को ऑपरेट कर रहा है, जिसे पंचम नकारता रहा।

पंचम, आशु और पांच अज्ञात पर केस :

सदर थाने के थानाध्यक्ष राजेश अरोड़ा ने बताया कि दोनों युवकों के बयानों के आधार पर पंचम, आशु और पांच अज्ञात लोगों पर धारा 307 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए टीमें गठित कर छापेमारी की जाएगी।

Two youths first hit the car
X
घटनास्थलपर प्रिंस से जानकारी लेते पुलिस अधिकारी।घटनास्थलपर प्रिंस से जानकारी लेते पुलिस अधिकारी।
Two youths first hit the car
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..