• Home
  • Punjab
  • Ludhiana
  • | आजादी के बाद पहली भागीदारी में पाकिस्तान से भी पीछे था भारत
--Advertisement--

| आजादी के बाद पहली भागीदारी में पाकिस्तान से भी पीछे था भारत

| आजादी के बाद पहली भागीदारी में पाकिस्तान से भी पीछे था भारत पाकिस्तान ने अब तक जितने गोल्ड जीते, भारत हर...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:40 AM IST
| आजादी के बाद पहली भागीदारी में पाकिस्तान से भी पीछे था भारत

पाकिस्तान ने अब तक जितने गोल्ड जीते, भारत हर गेम्स में उससे अधिक जीतता है

पिछले 18 साल में 4 गेम्स हुए, भारत ने कुल 105 गोल्ड जीते

आजादी के बाद भारत ने 1954 में पहले कॉमनवेल्थ गेम्स खेले थे। भारत ने एथलेटिक्स के कुछ इवेंट में हिस्सा लिया लेकिन खाली हाथ रह गया। वहीं, पाकिस्तान ने इसमें एक गोल्ड सहित छह मेडल जीते। ये अतीत था। वर्तमान ये है कि पाकिस्तान ने अपने कॉमनवेल्थ गेम्स के इतिहास में 12 गोल्ड सहित कुल 69 पदक जीते हैं। भारत करीब इतने ही पदक एक इवेंट में जीत लेता है। ग्लासगो कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत ने 15 गोल्ड सहित 64 मेडल जीते थे। यानी किसी जमाने में पाकिस्तान से पीछे रहा भारत अब एक गेम्स में इतने मेडल जीतता है जितने पाक ने अपने पूरे इतिहास में जीते हैं। इन गेम्स में अब भारत की चुनौती पाकिस्तान, श्रीलंका जैसे देश नहीं हैं। हम अब ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और कनाडा जैसे विकसित देशों को टक्कर देते हैं। नई सदी में चार कॉमनवेल्थ हो चुके हैं। इसमें भारत ने 105 गोल्ड सहित 284 मेडल जीते हैं। भारत ने पहली बार 1934 में इस इवेंट में हिस्सा लिया था। 1998 तक 12 भागीदारी में हम 50 गोल्ड सहित 154 मेडल जीते थे। 21वीं सदी में भारत के गोल्ड की संख्या में करीब 300% और कुल मेडल की संख्या में 150% इजाफा हुआ। ऐसी ग्रोथ 10 से ज्यादा मेडल जीतने वाले किसी और देश की नहीं रही है।

भारत ने 1934 से 1998 तक 12 गेम्स में जितने गोल्ड जीते थे, उसका तीन गुना इस सदी के चार इवेंट में जीत लिए

 लुधियाना, सोमवार 2 अप्रैल, 2018

8