• Hindi News
  • Punjab
  • Ludhiana
  • ‘बंटी चलाता था संगीता के परिवार का खर्च’
--Advertisement--

‘बंटी चलाता था संगीता के परिवार का खर्च’

लुधियाना| पति-प|ी की ओर से दोस्त की हत्या के मामले में मृतक बंटी के भाई राजू ने गंभीर आरोप लगाए हैं। उसने बताया कि...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 03:15 AM IST
‘बंटी चलाता था संगीता के परिवार का खर्च’
लुधियाना| पति-प|ी की ओर से दोस्त की हत्या के मामले में मृतक बंटी के भाई राजू ने गंभीर आरोप लगाए हैं। उसने बताया कि करीब पांच साल पहले बंटी की दशमेश नगर की गली नंबर आठ में कबाड़ की दुकान थी। उसी गली में भीम भी परिवार समेत रहता था। वह काम ढूंढते हुए बंटी के पास आया तो उसने उसे नौकरी पर रख लिया। राजू के अनुसार उस समय भीम के पास राशन के पैसे भी नहीं थे। बंटी ने उसे एडवांस दिया। इसके बाद बंटी उसके घर जाने लगा। राजू के अनुसार वहां दोनों शराब पीते। इसके चलते करीब दो साल पहले बंटी का कबाड़ का काम बंद हो गया। वह ऑटो चलाने लगा, जबकि भीम दूसरी जगह काम करने लगा। करीब एक महीना पहले ही भीम ने उसे शिवपुरी में काम दिलवाया। राजू ने बताया कि बंटी ने काम और पैसा सब खराब कर दिया था। उन्हें हर चीज लाकर देता था।

फ्लैट में पहले भी हो चुके हैं तीन मर्डर

जानकारी के अनुसार संगीता के मकान के साथ लगते फ्लैट में पहले भी तीन मर्डर हो चुके हैं। मोहल्ले के लोगों ने बताया कि पांच साल से पहले लड़की को जलाकर मारा गया था। इसके बाद टेलर की हत्या हुई। फ्लैट मालिक अवतार सिंह जब परिवार समेत दूसरी जगह शिफ्ट हुए थे तो इसके बाद एक रात वह गिल रोड पर काम से आए थे। देरी होने के कारण अवतार फ्लैट के कमरे में सो गए, लेकिन अगली सुबह उनकी हत्या हो चुकी थी। उनकी लाश अर्धनग्न अवस्था में मिली थी। मामले में पुलिस ने शक के आधार पर संगीता को हिरासत में ले जाकर पूछताछ की थी, लेकिन फिर छोड़ दिया था।

राशन-बच्चों की चीजें भी लेकर देता था

इलाके के लोगों ने बताया कि बंटी संगीता के घर का राशन, बच्चों के खाने पीने की चीजें लाकर देता था। यहां तक कि बच्चों के कपड़े भी वहीं खरीदकर देता था। मोहल्ले के दुकानदार संजू ने बताया कि पिछले ढाई साल से बंटी उससे ही सारा सामान खरीदकर लेकर जाता था। शनिवार रात भी वह एक लस्सी और बिस्कुट का पैकेट लेकर गया था।

एक महीना पहले भी हुआ था दोनों में झगड़ा

पड़ोसी महिला रम्मा ने बताया कि करीब एक महीना पहले संगीता के बेटे का जन्मदिन था। संगीता और परिवार पार्टी कर रहा था। इसी दौरान अचानक बंटी और संगीता में झगड़ा हो गया। दोनों गली में आ गए। संगीता उसे ऐसा न करने की बात कह रही थी। काफी समय तक बहसबाजी होने के बाद इलाके के लोगों ने उन्हें शांत कराया।

X
‘बंटी चलाता था संगीता के परिवार का खर्च’
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..