Hindi News »Punjab »Ludhiana» कारोबारियों के पास न कंप्यूटर, न ऑपरेटर, फिर भी ई- वे बिल लागू

कारोबारियों के पास न कंप्यूटर, न ऑपरेटर, फिर भी ई- वे बिल लागू

केंद्र सरकार की ओर 1 अप्रैल, 2018 से प्रभावी हुआ इलेक्ट्रॉनिक- वे (ई- वे) बिल सिस्टम का पहला दिन रविवार की छुट्टी की भेंट...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 03:20 AM IST

केंद्र सरकार की ओर 1 अप्रैल, 2018 से प्रभावी हुआ इलेक्ट्रॉनिक- वे (ई- वे) बिल सिस्टम का पहला दिन रविवार की छुट्टी की भेंट चढ़ गया। शहर का ट्रांसपोर्ट नगर रविवार को बंद रहता है और इस कारण कारोबारी भी अपने ऑर्डर बुक करवाने को यहां नहीं पंहुचे। वहीं आज एससी/बीसी संगठनों की ओर से भारत बंद की कॉल के चलते यहां का पूरा कारोबार ठप रहने की उम्मीद है। ऐसे में इस नए सिस्टम पर मंगलवार शाम तक ही पूरी तस्वीर साफ हो पाएगी। ई-वे बिल सिस्टम को लेकर जब शहर के कारोबारियों व ट्रांसपोर्टरों से बात की गई तो उससे ये जरूर साफ हो गया कि अभी तक ई-वे बिल को लेकर उनकी तैयारी मुकम्मल नहीं हो पाई है और वे इसके लिए कुछ और समय देने की बात कह रहे हैं। इस नई व्यवस्था को लागू करने के लिए जहां कारोबारियों व ट्रांसपोर्टरों को नए कंप्यूटर खरीदने होंगे, वहीं ऑनलाइन बिल जनरेट करने को डाटा ऑपरेटर अपॉइंट करने होंगे। अधिकतर ट्रांसपोर्टरों के पास ये व्यवस्था तो नहीं बन पाई है, लेकिन यहां पर प्राइवेट तौर पर दस रुपए में बिल्टी के जरिए ई बिल जनरेट करने को कंप्यूटर जरूर लगा दिए गए हैं, जो दस रुपए में ट्रांसपोर्टरों को ई बिल मुहैया करवा देंगे।

50 हजार से अधिक के सामान पर ई-वे बिल जरूरी

शहर से किसी अन्य राज्य को ट्रांसपोर्ट से 50 हजार से अधिक का सामान भेजने के लिए दो तरह के ई-वे बिल जनरेट करने होंगे। इसमें एक ई-वे बिल कारोबारी की ओर से और दूसरा बिल ट्रांसपोर्टर की ओर से जनरेट करना होगा। ये दोनों ही कॉपी ट्रक ड्राइवर के पास बिल के साथ रहेंगी।

नए सिस्टम के लिए कंप्यूटर व डाटा ऑपरेटर की व्यवस्था हर ट्रांसपोर्टरों को करनी होगी। हमारे लिए सबसे बड़ी दिक्कत ये है कि हमारा स्टाफ अधिक पढ़ा लिखा नहीं है और ऐसे में इस पूरे नए सिस्टम को अडॉप्ट करना सरल नहीं है। -कैलाश चौधरी, ट्रांसपोर्टर

विभागीय अफसरों को सबसे पहले नए सिस्टम संबंधी कैंप लगा जानकारी देनी चाहिए। जैसे ये सिस्टम थोंपा जा रहा है, इससे तो बैरियर पर गाडिय़ां पकड़ी जाएंगी। जिससे आम पब्लिक, ट्रांसपोर्टर सहित कारोबारी परेशान होंगे। कुलवंत सिंह, प्रधान लुधियाना मशीन टूल्स मैन्यूफेक्चरर्स एसोसिएशन

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ludhiana

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×