• Home
  • Punjab
  • Ludhiana
  • ‘श्री शत्रुंजय गिरीराज की महिमा अपरमपार’
--Advertisement--

‘श्री शत्रुंजय गिरीराज की महिमा अपरमपार’

नव्वाणु यात्रा अनुष्ठान 9 अप्रैल तक चलेगा सिटी रिपोर्टर| लुधियाना उत्तर भारत के श्री शत्रुंजय गिरीराज श्री...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 03:30 AM IST
नव्वाणु यात्रा अनुष्ठान 9 अप्रैल तक चलेगा

सिटी रिपोर्टर| लुधियाना

उत्तर भारत के श्री शत्रुंजय गिरीराज श्री कांगड़ा तीर्थ पर प्रथम बार नव्वाणु यात्रा अनुष्ठान वल्लभ समुदाय के वर्तमान गच्छाधिपति श्रुत भास्कर आचार्य भगवंत श्रीमद् विजय धर्मधुरंधर सूरीश्वर म.सा. की आज्ञानुवर्तिनी शासन ज्योति साध्वी सुमति श्री मसा. की सुशिष्या-प्रशिष्याएं साध्वी सुमनीषा की पावन निश्रा में 09 अप्रैल तक चलेगा। इसमें 125 भाई-बहन भाग ले रहे हैं। कांगड़ा जी के पुराना किले में महाभारतकालीन श्री आदिनाथ प्रभु की प्रतिमा के दर्शन-वंदन-पूजन के लिए प्रतिदिन 4-4 यात्राएं करते हैं। बियासना, एकासना, आयंबिल, उपवास, तेला आदि तपस्याओं के साथ प्रतिदिन राइ देवासी प्रतिक्रमण के साथ कर्मों की निर्जरा कर रहे हैं। आज चैत्री पूर्णिमा के पावन अवसर पर 25 भाई बहनों की चौविहार तपस्या थी। प्रतिदिन रात्रि को तलहटी मंदिर जी में भावना-कीर्तन का आयोजन किया जा रहा है। साध्वी सुमनीषा जी म.सा. ने अपने दैविक प्रवचन में फरमाते हुए कहा कि श्री शत्रुंजय गिरीराज की महिमा अपरमपार है। यहां अनंतानंत भव्य आत्माओं ने सिद्ध गति को प्राप्त किया है। इस तीर्थ की यात्रा करने से अनेक गुणा शुभ फल की प्राप्ति होती है। इसी अनुरूप उत्तर भारत के श्री शत्रुंजय तीर्थ समान श्री कांगड़ा जी तीर्थ में प्रभु आदिनाथ की भक्ति करके सैकड़ों श्रावक-श्राविकाएं पुण्यार्जन कर रहे हैं। आज की धार्मिक भक्ति का लाभ अमर चंद, अशोक कुमार जैन, नीरज जैन, अमित जैन ‘टोरी’ ‘पट्टी वाले’ शांति हौजरी वालों ने प्राप्त किया।