--Advertisement--

फायरमैन की बेटे बेटी ने की पिता की तलाश की गुजारिश, पहले दिन से हैं गायब

विश्वास जताया कि उनके पिता जिंदा हैं और उन्होंने टीम को जगह दिखाकर मलबा जल्दी हटाने के लिए कहा।

Danik Bhaskar | Nov 25, 2017, 04:54 AM IST

लुधियाना. सूफियां चौक फैक्टरी हादसे के बाद से अपने पिता की तलाश में शुक्रवार को भी मौके पर ही डटे रहे। तमन्ना और नमन ने एसटीएफ अफसर राम लाल से पिता को ढूंढने के लिए गुजारिश की। उन्होंने विश्वास जताया कि उनके पिता जिंदा हैं और उन्होंने टीम को जगह दिखाकर मलबा जल्दी हटाने के लिए कहा।


तमन्ना और नमन ने एसटीएफ और एनडीआरएफ के अफसर को कोने में ले जाकर फैक्टरी के साथ वाले ले गए। जहां पड़ोस का घर पड़ता था। इस पर रामलाल ने उन्हें ढांढस बांधते हुए कहा कि आप जिस जगह कहते हैं, वहां पर आपके पिता को ढूंढेंगे। उसकी भांजी संगीता भी परिवार के अन्य लोगों के साथ मौके पर ही अपने मामा की तलाश में बैठी है।

फायर ब्रिगेड टीम के लिए समोसे लेने गया था, लौटा तो ढह चुकी थी बिल्डिंग

फैक्टरी के पास रहने वाले संदीप सिंह ने बताया कि सोमवार को फैक्टरी में सुबह करीब आठ बजे आग लगी। इस पर काबू पाने के लिए पहुंची फायर ब्रिगेड की टीमों ने करीब जब 10 तक बजे करीब-करीब आग पर काबू पा लिया था। मौके पर पहुंचे इलाके के ही संदीप सिंह अपने साथियों के साथ बाबा नछतर सिंह के घर पहुंचे। वहां पर आग पर काबू पा लेने के बाद आराम कर रहे कुछ फायर अफसर के लिए संदीप बाजार से समोसे लेने गया था। संदीप फायरमैनों के कहने पर समोसे देने के बाद उनके लिए चाय लेने के लिए चला गया। मगर जब वापस आया तो देखा इमारत गिर चुकी थी। संदीप ने कहा कि वह समोसे वाला बैग आज भी मलबा बने घर में पड़ा है, जिसमें समोसे भी पड़े हैं।