Hindi News »Punjab »Ludhiana» Uncontrollable Car Dividers Cross The Truck

जानवर सामने आने से बेकाबू कार डिवाइडर पार कर ट्रक से टकराई, दो की मौत

डिवाइडर पार करके जालंधर की ओर से रहे एक ट्रक के आगे जा गिरी, जिससे यह वीभत्स हादसा हुआ।

BhaskarNews | Last Modified - Nov 18, 2017, 05:09 AM IST

  • जानवर सामने आने से बेकाबू कार डिवाइडर पार कर ट्रक से टकराई, दो की मौत
    कैमरे के लेंस लेने के लिए जा रहे थे जालंधर, कार को काटकर निकाली लाशें ।

    होशियारपुर/टांडा. मैरिज फोटोग्राफी असाइनमेंट पूरा कर लौट रहे दो युवकों की जालंधर-पठानकोट राष्ट्रीय राज मार्ग पर अड्डा चौलांग के नजदीक शुक्रवार को दिल दहला देने वाले हादसे में मौत हो गई। दोनों टांडा की ओर से भोगपुर जा रहे थे कि अचानक सामने आवारा पशु आने से कार बेकाबू होकर डिवाइडर पार करके जालंधर की ओर से रहे एक ट्रक के आगे जा गिरी, जिससे यह वीभत्स हादसा हुआ। कार मृतकों की पहचान हरजोत सिंह (21) पुत्र जुझार सिंह निवासी भोगपुर और परमिंदर सिंह (21) पुत्र ब्रिज मोहन निवासी जज्जाखुर्द के रूप में हुई है।

    हादसा इतना भयानक था कि कार की छत उड़ गई। मृतकों के शव को निकालने के लिए पुलिस और राहगीरों को बड़ी मशक्कत करनी पड़ी। पुलिस ने ट्रक और ड्राइवर को कब्जे में लेकर अगली कार्रवाई शुरू कर दी है।

    आवारा पशु बन चुके हैं गंभीर समस्या
    जिलाहोशियारपुर में आवारा पशु लोगों के लिए गंभीर समस्या बन चुके हैं। आए दिन इन पशुओं की चपेट में अाकर कई लोग या तो घायल हो रहे हैं या फिर अपनी जान गंवा रहे हैं। कंडी क्षेत्र से शहरी क्षेत्र तक आवारा पशुओं का आतंक है। नई सोच नामक संस्था तो शहरी क्षेत्र में आवारा पशुओं को पकड़कर गोशाला में छोड़ भी रहे हैं, लेकिन यह प्रयास भी नाकाफी साबित हो रहे हैं। शुक्रवार को नेशनल हाईवे पर भी आवारा पशुओं के अचानक कार के सामने आने से इतना बड़ा हादसा हो गया। लोगों की ओर से बार-बार धरना प्रदर्शन करने के बावजूद प्रशासन कब कुंभकरणी नींद से जागेगा, यह बड़ा सवाल है। प्रशासन को इसका हल निकालना चाहिए।

    प्रिंस पांच बहनों का इकलौता भाई
    दर्द की इंतहा यहीं नहीं खत्म हुई हरजोत का दोस्त परमिंदर सिंह उर्फ प्रिंस भी परिवार का इकलौता लड़का था और उसकी पांच बहनें हैं और प्रिंस की उम्र भी 21 वर्ष थी।
    हादसे में मारे गए दोनों युवक अपने-अपने परिवार के इकलौते लड़के थे। शुक्रवार को वे अपने जीवन का पहला मैरिज फोटोग्राफी एसाइनमेंट पूरा कर जालंधर जा रहे थे, जहां से उन्होंने ऑनलाइन मंगवाए हुए कैमरे के लेंस पिक करने थे। दोनों गहरे मित्र थे। हादसा इतना दर्दनाक था कि इनकी लाशों को निकालने के लिए गाड़ी को कई हिस्सों को काटना पड़ा।

    पहला मैरिज असाइनमेंट बना आखिरी असाइनमेंट
    भोगपुर के रहने वाले हरजोत सिंह सिटी कॉलेज में बीए का छात्र था उसकी एक बहन थी, जो विदेश जाने की तैयारी कर रही थी। हरजोत अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर फोटोग्राफी की शुरुआत की थी। टांडा के पास विवाह समारोह के लिए उन्हें पहला असाइनमेंट मिला था इसी असाइनमेंट को दोनों पूरा करके लौट रहे थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ludhiana

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×