--Advertisement--

इंश्योंरेस के नाम पर लाखों की ठगी, उत्तराखंड पुलिस ने की रेड

गिरीश यादव की शिकायत पर जाली दस्तावेज तैयार कर धोखाधड़ी करने का मामला दर्ज है।

Dainik Bhaskar

Jan 20, 2015, 07:47 AM IST
Millions rupees of fraud in the name of insurance
लुधियाना. इंश्योरेंस कंपनी की आड़ में लोन देने का झांसा देकर ठगी करने के आरोप में नामजद हुए आरोपी को पकड़ने के लिए उत्तराखंड की पुलिस ने पक्खोवाल रोड पर कंपनी के ड्राविन प्लेटफार्म लाइफ इंश्योरेंस एंड फाइनेंस के दफ्तर में रेड की। मगर इसकी भनक लगने पर आरोपी अजय हरिनाथ सिंह व डिंपल फरार हो गए।

रेड करने आई टीम का नेतृत्व कर रहे थाना रूद्रपुर के एसएचओ सिराज अहमद फारूकी ने बताया कि आरोपी के खिलाफ रूद्रपुर के गिरीश यादव की शिकायत पर जाली दस्तावेज तैयार कर धोखाधड़ी करने का मामला दर्ज है। अदालत ने आरोपियों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किए हुए हैं। पुलिस को सूचना मिली थी कि आरोपी लुधियाना के फाइव स्टार होटल में रह रहा है। जिसने पक्खोवाल रोड पर अपना दफ्तर खोला हुआ है।

एसएचओ के अनुसार गिरीश यादव ने शिकायत दी थी कि आरोपी अजय हरिनाथ सिंह ने उन्हें बताया था कि उसकी इंश्योरेंस कंपनी है। जिसकी ओपनिंग लुधियाना से की गई है। कंपनी के जिसकी दिल्ली और मुंबई में ब्रांच है। अगर कोई कंपनी में 10 लाख रुपए जमा करता है तो उसकी 1 करोड़ रुपए की इंश्योरेंस की जाएगी।

तीन महीने के बाद वह कंपनी से 70 से 80 लाख रुपए का लोन ले सकता है। 10 लाख का भुगतान देने के बाद भी उक्त आरोपी ने उनको लोन नहीं दिया और पैसे भी वापस नहीं किए। इसी तरह से अन्य कई लोगों से भी पैसे लेकर उक्त आरोपी वहां से चला गया। सूचना मिलने पर पुलिस उसके खिलाफ गैर जमानती वारंट लेकर ही पहुंची थी। जब इस दफ्तर में रेड की तो वहां पर कंपनी का मैनेजर और दो लड़कियां मौजूद थीं। जिन्होंने बताया कि वह करीब 15 दिन पहले ही इस कंपनी में काम पर लगे हैं।
अभी तक कंपनी के मालिक से भी नहीं मिले हैं। मैनेजर ने बताया कि केवल एक बार ही वह कंपनी के मालिक से फाइव स्टार होटल में मिला था। दफ्तर से बैरंग लौटी पुलिस ने फाइव स्टार होटल में भी रेड की। लेकिन वहां से भी आरोपी फरार हो चुका था। आरोपी ने लोगों के साथ धोखाधड़ी करने के लिए फर्जी इंश्योरेंस कंपनी खोली हुई है। जबकि आईआरएडी अथॉरिटी ने इसे फर्जी कंपनी घोषित की है।

लोगों को झांसा देने के लिए उक्त आरोपी की तरफ से विज्ञापन जारी किए गए हैं कि उसकी कंपनी की तरफ से राष्ट्रीय स्तर की कंपनियों के अलावा मल्टी नेशनल कंपनियों को भी करोड़ों रुपए का लोन दिया हुआ है। अलग-अलग क्षेत्रों में कंपनी ने खुद भी करोड़ों रुपए निवेश किए हुए हैं। इतना ही नहीं आरोपी लोगों को सोनिया गांधी व राहुल गांधी के साथ अपने नजदीकी संबंध बताकर उन्हें कई काम करवाने का झांसा देता था। उसने खुद की राजनीतिक पार्टी बनाकर लोगों को अपने जाल में फंसाना शुरू कर दिया। जांच अफसर ने बताया कि पुलिस उसके अन्य ठिकानों पर भी दबिश दे रही है।
X
Millions rupees of fraud in the name of insurance
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..