हादसा / पिता के साथ सैर कर रहे 8 साल के बच्चे को गाड़ी ने कुचला, बोरी में लपेट पहुंचाया अस्पताल



गाड़ी से कुचले जाने के बाद बोरी में लपेटी गई बच्चे की लाश। गाड़ी से कुचले जाने के बाद बोरी में लपेटी गई बच्चे की लाश।
a car driver ran away after crushing a child while he was on morning walk
X
गाड़ी से कुचले जाने के बाद बोरी में लपेटी गई बच्चे की लाश।गाड़ी से कुचले जाने के बाद बोरी में लपेटी गई बच्चे की लाश।
a car driver ran away after crushing a child while he was on morning walk

  • गुरुवार सुबह साढ़े 4 बजे सरहिंद राेड पर गांव हसनपुर बस स्टैंड के पास हुआ हादसा

Dainik Bhaskar

Sep 13, 2019, 02:17 PM IST

पटियाला. पटियाला मेें पिता के साथ सैर पर निकले 8 साल के बच्चे को ओवर स्पीड गाड़ी ने पीछे से टक्कर मारी और उसे कुलचते हुए आराेपी ड्राइवर फरार हाे गया। हादसा गुरुवार सुबह साढ़े 4 बजे सरहिंद राेड पर गांव हसनपुर बस स्टैंड के पास हुआ। माैके पर पहुंचे एंबुलेंस कर्मी बच्चे की लाश काे कंबल और बाेरी में लपेटकर राजिंदरा अस्पताल लाए। पिता नायब सिंह के बयान पर चौकी फग्गणमाजरा पुलिस ने अनजान वाहन चालक के खिलाफ केस दर्ज किया।

 

नायब सिंह ने बताया कि उसके 4 बच्चे हैं। जब वह सुबह सैर के लिए उठा ताे बलराज भी उठ गया और साथ जाने की जिद करने लगा। जब वह मेन राेड पर पहुंचे ताे पीछे से आए वाहन ने बच्चे काे टक्कर मारी। वाहन की टक्कर से बच्चा 25 फिट दूर जा कर गिरा और वाहन ड्राइवर उसे कुलचते हुए फरार हाे गया। सड़क पर घिसटने से बच्चे के सिर के बाल तक साफ हाे गए। गाड़ी के ऊपर से बच्चे के पेट के नीचे का सारा हिस्सा बिल्कुल कुचला गया था। चाैकी फग्गणमाजरा एएसआई पवन कुमार ने बताया कि घटना की जानकारी मिलने के बाद माैके पर पहंचकर बच्चे की लाश काे राजिंदरा अस्पताल पहुंचाया। पता चला है कि बलराज बचपन से ही दिमागी ताैर पर थाेड़ा बीमार रहता था। कभी-कभी अपने बहन भाइयाें के साथ स्कूल जाता था। दीवाली के अगले दिन बेटा 8 साल का हाे जाता।

 

5 मिनट समझ नहीं आया कि कहां गया बेटा
नायब सिंह की मानें तो घटना के बाद 5 मिनट ताे उसे खुद कुछ समझ नहीं आया कि क्या हाे गया। अगुंली पकड़कर चल रहा बलराज कहां गया। नजर पड़ी तो थाेड़ी दूरी पर बीच सड़क बलराज खून से लथपथ पड़ा था। उस समय सड़क पर काेई नहीं था। वह घर पहुंचा और परिवार के लाेगों काे बताया। घर से कंबल उठाकर बलराज पर डाला। जब एंबुलेंस का ड्राइवर मेरे पास पहुंचा तो उसने कहा कि बच्चे की सांस रुक चुकी हैं।

 

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना