पंजाब / कार में आए चार लुटेरे, 13 मिनट में एटीएम का शटर तोड़‌‌‌‌‌‌‌‌ ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌23 लाख से भरी मशीन उखाड़ ले गए

एटीएम उखाड़कर ले जाते बदमाश। एटीएम उखाड़कर ले जाते बदमाश।
X
एटीएम उखाड़कर ले जाते बदमाश।एटीएम उखाड़कर ले जाते बदमाश।

  • लुधियाना में सुबह पौने 3 बजे की घटना, सीटीसीवी फुटेज में आरोपी एटीएम उखाड़ते दिखे
  • एटीएम मशीन पूरी अंदर आ जाए इसलिए हटा दी थी कार से पीछे वाली सीट

दैनिक भास्कर

Nov 03, 2019, 05:43 AM IST

जगराआें/रायकोट/लुधियाना. पक्खोवाल गांव के मेन रोड पर लगे एसबीआई के एटीएम काे स्विफ्ट कार सवार चार लुटेरों ने शनिवार सुबह महज 13 मिनट में गैस कटर से पहले शटर के लॉक को काटा और फिर साढ़े 23 लाख रुपए से ज्यादा भरा एटीएम उखाड़कर साथ ले गए। शनिवार सुबह पहुंचे बैंक के गार्ड ने तुंरत इसकी सूचना मैनेजर को दी और उन्होंने पुलिस को सूचित किया। इसके बाद जगरांव पुलिस में हड़कंप मच गया। एसएसपी संदीप गोयल, फिंगर प्रिंट्स एक्सपर्ट, डाॅग स्कवॉयड और बाकी के अधिकारियों की टीम मौके पर पहुंची।

 

जिन्होंने मामले की पड़ताल शुरू की और मशीन के अंदर लगे सीसीटीवी फुटेज को कब्जे में लिया। पुलिस को दिए बयान में बैंक मैनेजर गुरचरण सिंह माही ने बताया कि बैंक के एटीएम पर उन्होंने गांव सराभा निवासी अमरजीत सिंह नाम का गार्ड रखा था, जोकि सुबह 7 से शाम 5 बजे तक ड्यूटी करता है। शुक्रवार की शाम को वो एटीएम को लाॅक कर चला गया था। शनिवार सुबह जब अमरजीत एटीएम पर आया तो पूरी मशीन ही गायब थी। इसके बाद पुलिस व बैंक अधिकारी भी पहुंच गए। 

 

प्रोफेशनल थे लुटेरे

चारों लुटेरे काफी शातिर थे, जिन्हें प्रोफेशनल कहा जा सकता है। क्योंकि वो अपना कोई भी सबूत छोड़कर नहीं गए। चेहरे पर नकाश, हाथों में दस्ताने और गाड़ी बिना नंबर प्लेट के। कुछ इस तरह की फुलप्रूफ प्लानिंग के साथ लुटेरों ने अंजाम दिया कि फारेंसिक टीम को सिवाए जूतों की मिट्टी के अंदर से कुछ नहीं मिला। 

 

ऐसे दिया वारदात को अंजाम 
पुलिस ने मशीन के पास लगे सीसीटीवी कैमरे चैक किए तो उसमें पता चला कि तड़के 2.45 बजे एक गाड़ी मेन रोड पर एटीएम के बाहर आकर रूकती है। जिसमें सवार चार लोगों में से दो गैस कटर से मेन शटर के लाॅक को काटकर शटर ऊपर उठा देते है। इसके बाद वो गैस कटर से ही एटीएम मशीन को काटने की कोशिश करते है, लेकिन वो कामयाब नहीं हो पाते। फिर दोनों अपने तीसरे साथी को बुलाते जिसके बाद सभी मिलकर मशीन को ही उखाड़ लेते है।

 

फिर वो बाहर खड़े चौथे साथी (कार चालक) को बुलाते है जोकि गाड़ी को बैक करके लाता है और एटीएम के दरवाजे के पास आकर रोक देता है। उक्त कार को माॅडीफआई किया गया था, जिसमें से पीछे की सीटें गायब थी। लिहाजा आसानी से एटीएम मशीन को कार में डाल दिया और जाते हुए शटर गिराकर लुटेरे फरार हो गए। वहीं सूत्रों के मुताबिक घटनास्थल पर कुछ समय पहले रूरल पुलिस गश्त करके निकली थी। लेकिन अधिकारियों ने इसकी पुष्टि नहीं की।

 

पुलिस ने लिया काॅल डंप, 4 गांवों से उठाए 6 संदिग्ध 
घटना के बाद पुलिस ने सबसे पहले घटनास्थल के काॅल डंप को उठाया, जिसमें कुछ संदिग्ध के नंबर मिले। लिहाजा उसके बाद पुलिस ने रायकोट, सुधार, हलवारा समेत एक अन्य गांव के आधा दर्जन के करीब लोगों को उठाया, जिनसे पूछताछ की गई। वहीं, पुलिस का मानना है कि उक्त मामले में बैंक के किसी एक मुलाजिम की शमूलियत है, जिसे पता था कैश कब और कितना डाला जाता है। 

 

रायकोट की तरफ निकले लुटेरे

पुलिस को अभी तक जो फुटेज मिली है, उसमें लुटेरे रायकोट की तरफ भागे है। फिलहाल पुलिस वहां से आगे टोल प्लाजा को भी चैक कर रही है। लेकिन अभी तक किसी में फुटेज नहीं आई है। पुलिस को आशंका है कि लुटेरे अभी भी आसपास ही है या फिर उन्होंने रायकोट से पहले अपना रास्ता बदल लिया है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना