राम नाम का अमृतपान करने से तन को सुख अौर मन को मिलती है शांति

Ludhiana News - लुधियाना| अमृतवाणी सत्संग धर्मार्थ ट्रस्ट की ओर से स्वामी सत्यानंद जी महाराज, पूज्य प्रेम जी महाराज, पूज्य संत...

Dec 11, 2019, 08:20 AM IST
लुधियाना| अमृतवाणी सत्संग धर्मार्थ ट्रस्ट की ओर से स्वामी सत्यानंद जी महाराज, पूज्य प्रेम जी महाराज, पूज्य संत नरकेवल बेदी महाराज के आशीर्वाद सेे सिविल लाइंस के श्री राम पार्क स्थित श्री राम शरणम् आश्रम में 65वां राम नाम अखंड जप महायज्ञ बड़े श्रद्धा भाव से चल रहा है। अखंड जप महायज्ञ के तीसरे दिन संत अश्वनी बेदी महाराज ने साधकों को संबोधित करते हुए कहा कि राम नाम का जाप प्रभु प्राप्ति का सरल और सुगम मार्ग है। राम नाम का जाप अमृत के समान फल का देने वाला है। उन्होंने कहा कि अमृत के तीन विशेष गुण होते हैं। पहला गुण आनंद की प्राप्ति होती है। राम नाम का अमृतपान करने से तन को सुख, मन को शांति और आत्मा को आनंद प्राप्त होता है। अमृत का दूसरा गुण तृप्ति, संतोष है। राम नाम जपने से जीवन में हाय कलाप नष्ट हो जाती है। सत्य, संतोष, ज्ञान प्राप्त होता है। अमृत का तीसरा गुण है मृत्यु के भय का नाश। राम नाम जपने से मृत्यु के भय का नाश हो जाता है। गुरु नानक देव महाराज की वाणी है " ना ओह मरहि ना ठागे जाहि, जिनकै रामु बसे मन माहि। " जिन भक्तों के मन में राम नाम बस जाता है, वे राम नाम जपने वाले अमर हो जाते है। उनकी कीर्ति तथा शोभा सदा बनी रहती है। वे राम नाम जपने वाले काम, क्रोध, लोभ, मोह और अहंकार आदि विषयों से भी ठगे नही जाते। उन्होंने कहा कि श्री राम प्रभु सदा अपने भक्त के अंग-संग रहते हैं। हर प्रकार के दुख, कष्ट, कलेश से अपने भक्त की रक्षा करते हैं। इसलिए श्री राम को अपने अंग-संग मान कर राम नाम महायज्ञ में भाग लेकर खूब राम नाम जपें। अखंड जप यज्ञ में साधक बड़े श्रद्धा भाव से सम्मिलित होकर भाव-चाव के साथ राम नाम का जाप कर रहे हैं। जप यज्ञ में रोजाना शिमला, यमुना नगर, पटियाला, अमृतसर आदि शहरों से साधक शामिल होकर श्री राम कृृृपा प्राप्त कर रहे हैं। भाभी मां रेखा बेदी और सेविकाओं ने मधुर भजन गाकर संगत को मंत्र मुग्ध कर दिया।

श्री राम शरणम् आश्रम में मौजूद श्रद्धालु।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना