• Hindi News
  • Punjab
  • Ludhiana
  • Ludhiana News every other teenage girl is struggling with polycystic ovary syndrome problem due to changing lifestyle

बदलतेे लाइफस्टाइल के कारण पॉलिसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम प्रॉब्लम से जूझ रही है हर दूसरी किशोर युवती

Ludhiana News - सितंबर को पॉलिसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओएस) जागरुकता महीने के तौर पर मनाया जाता है। पीसीओएस एक गंभीर जेनेटिक,...

Sep 11, 2019, 09:05 PM IST
सितंबर को पॉलिसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओएस) जागरुकता महीने के तौर पर मनाया जाता है। पीसीओएस एक गंभीर जेनेटिक, हॉर्मोन, मेटाबोलिक और रिप्रोडक्टिव डिसऑर्डर से संबंधित समस्या है। इससे महिलाओं और लड़कियों केे स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ता है। अगर समस्या को लंबे समय तक अनदेखा किया जाए तो बांझपन, मोटापा, टाइप 2 डाइबिटिज, दिल से जुड़ी बीमारियां और एंडोमेटिरियल कैंसर (गर्भाशय का कैंसर) होने की संभावना बढ़ जाती है। मगर इसे गंभीरता से नहीं लिया जाता, यहां तक कि सेहत महकमा जागरुकता कैंपेन तक नहीं चलाता। हर दूसरी किशोर लड़की पीरियड्स में अनियमितता, हार्मोनल बदलाव जैसे शरीर व चेहरे पर ज्यादा बाल आना, चेहरे पर दानों की समस्या लेकर पहुंच रही है। वहीं, सिविल हॉस्पिटल में रोजाना के 4-5 केस आ रहे हैं। एक्सपर्ट्स के मुताबिक बदलते लाइफस्टाइल, समय पर खाना न खाने, जंक फूड खाने, एक्सरसाइज की कमी, बढ़ रहे स्ट्रेस को इसका कारण माना जाता है।

कारण: हार्मोनल इंबेलेंस, गलत लाइफस्टाइल, स्ट्रेस, एक्सरसाइज न करना, स्ट्रेस लेना, समय पर खाना न खाना, जंक फूड।

निवारण: हेल्दी लाइफस्टाइल, बैलेंस्ड डाइट, हरी सब्जियां और फल ज्यादा खाएं, एक्सरसाइज करें, पीरियड्स सही न होने पर डॉक्टर से कंसल्ट जरूर करें।

रोजमर्रा की आदतों में बदलाव की जरूरत




X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना