मां बोली से जुड़े रहने वाली शख्सियतों पर होना चाहिए फख्र

Ludhiana News - लुधियाना|विश्व पंजाबी साहित्य विचार मंच की आेर से पंजाबी भवन में प्रसिद्ध उपन्यासकार निंदर गिल के साथ रू-ब-रू...

Nov 11, 2019, 08:21 AM IST
लुधियाना|विश्व पंजाबी साहित्य विचार मंच की आेर से पंजाबी भवन में प्रसिद्ध उपन्यासकार निंदर गिल के साथ रू-ब-रू कार्यक्रम कराया गया। पंजाबी साहित्य अकादमी के सहयोग से हुए इस आयोजन में प्रमुख साहित्यकार मौजूद रहे। कार्यक्रम की प्रधानगी मंच के प्रधान डॉ.गुलजार सिंह पंधेर, महासचिव दलवीर सिंह लुधियानवी, अकादमी के उप प्रधान सुरिंदर कैले, प्रिंसिपल इंदरजीत पाल कौर व निंदर गिल ने की। डॉ.पंधेर ने जोर देकर कहा कि ऐसी शख्सियतों पर फख्र होना चाहिए, जो परदेसी हो जाने पर भी अपनी मां-बोली और मिट्टी से जुड़े रहते हैं। इसके साथ ही अपनी लेखनी से साहित्य जगत की सेवा भी जारी रख विरासत को संजोने का काम करते हैं। उन्होंने रोपड़ में पले-बढ़े और बाद में लुधियाना जिले में आकर बसे उपन्यासकार गिल के व्यक्तित्व व साहित्यिक सफर के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उनके अलावा तरलोचन झांडे, जयपाल, बलकौर सिंह गिल, बुद्ध सिंह ने भी विचार व्यक्त किए।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना