• Hindi News
  • Punjab
  • Ludhiana
  • Ludhiana News in order to sell the expensive car to a friend chelse had met with the partner the murder of the master

दोस्त को महंगी कार बेचने की रंजिश में चेले ने साथी के साथ मिल किया था गुरु का मर्डर

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 08:10 AM IST

Ludhiana News - दुगरी के एमआईजी फ्लैट में कार सेल-परचेज कारोबारी संजीव शर्मा की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली। संजीव को गुरु...

Ludhiana News - in order to sell the expensive car to a friend chelse had met with the partner the murder of the master
दुगरी के एमआईजी फ्लैट में कार सेल-परचेज कारोबारी संजीव शर्मा की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली। संजीव को गुरु कहने वाले उसके चेले अमित कुमार और उसके साथी को दुगरी फेज-1 से काबू कर लिया। अमित ने उसके दोस्त साहिल की महंगी कार बेचने की रंजिश और ब्रीफकेस में पैसा देख वारदात की। आरोपियों से लूट के 17,200 रुपए, सोने की अंगूठियां, दस्तावेज और वारदात में इस्तेमाल एक्टिवा और कार को बरामद की। थाना दुगरी पुलिस ने दुर्गा कॉलोनी के अमित कुमार और दुगरी संत एन्क्लेव के साहिल शर्मा पर केसा दर्ज किया है। आरोपियों को 2 दिन के रिमांड पर लिया है। एडीसीपी-2 जसकिरन जीत सिंह तेजा और एसीपी जश्नदीप सिंह गिल ने बताया कि संजीव शर्मा की हत्या का पता चलने के बाद पुलिस ने शक के आधार पर अमित को हिरासत में लेकर पूछताछ की। इस दौरान आरोपी ने हत्या की बात कबूली। एडीसीपी जसकिरन जीत तेजा के अनुसार आरोपी साहिल शर्मा बीसीए स्टूडेंट है, जबकि अमित बीसीए कर चुका है। साहिल के पिता की ऑटो पार्ट्स फैक्टरी है। दोनों पुराने दोस्त हैं।

आरोपी अमित

चार साल से था जानकार, बेटे की तरह दिखने के चलते रखा था साथ

शिकायतकर्ता बलविंदर सिंह ने बताया कि संजीव और अमित दुगरी में एक कार एजेंसी में जॉब करते थे। वहीं दोनों की मुलाकात हो गई। फिर संजीव ने दूसरी जगह काम करना शुरू किया। एक साल पहले उसने पार्टनरशिप में कार सेल परचेज का काम शुरू किया। जनवरी 2019 में उसने बैंक से आठ लाख रुपए का लोन लेकर अपनी कारें खरीदकर बेचने लगा। छह महीने पहले अमीत ने उसे फोन कर काम सीखने की बात कह साथ लग गया। बलविंदर अनुसार संजीव बताता था कि अमित का चेहरा उसके बेटे से मिलता था। जिसके चलते उसने उसे अपने साथ रखा। वह उसे कार बेचने पर इनसेंटिव और जेब खर्च देता था। अमित उसे अपना गुरु मानता था।

अारोपी ने पैसों के लालच में की वारदात

एडीसीपी जसकिरन जीत सिंह तेजा अनुसार अमित ने कुछ दिन पहले संजीव के जरिए साहिल को एक सिल्वर रंग की स्विफ्ट डिजायर सवा दो लाख रुपए में दिलवाई थी। अमित को लगता था कि उसने उसे दोस्त को कार महंगी बेची है। जिस कारण वह रंजिश रखने लगा। संजीव कभी भी अमित को ब्रीफकेस के लॉकर का कोड व अपनी पर्सनल चीजें नहीं बताता था। इस पर अमित उससे गुस्सा करता था। बलविंदर अनुसार संजीव ने एक महीने पहले नया ब्रीफकेस खरीदा। वह उसी में कैश व दस्तावेज रखता था। अमित को लगता कि ब्रीफकेस में काफी पैसा होता है। वारदात के दिन संजीव को एक कार बेचने के दो लाख रुपए मिले थे। इसी पर अमित को लगा कि ब्रीफकेस में दो लाख रुपए होंगे। जिस कारण उसने वारदात की।

दोस्तों को जान का खतरा होने का जताया था शक

पुलिस पूछताछ में अमित ने बताया कि उसने तीन बार संजीव को मारने की कोशिश की। उसने पहले संजीव को नशे की गोलियां दी। लेकिन उसने उक्त शराब का पैग नहीं पिया और बचाव हो गया। एक हफ्ता पहले अमित रात को दोबारा उसके घर गया और नशीली गोलियां डालकर संजीव को पैग दिया। लेकिन शराब सफेद हो जाने पर संजीव को शक हुआ तो उसने फिर इंकार किया। गुस्से में अमित ने पैग गिरा दिया और चला गया। बलविंदर अनुसार संजीव सुबह उठा तो उसने अमित द्वारा गिराई शराब को देखा तो वह सफेद थी। जिस पर उसे शक हुआ। उसने अपने दोस्त सनी को जान का खतरा होने की बात कह शक जताया था। लेकिन फिर उसने ज्यादा नहीं सोचा। बलविंदर अनुसार संजीव हमेशा अकेले शराब पीता था। पहली बार अमित को घर बुला शराब पी।

X
Ludhiana News - in order to sell the expensive car to a friend chelse had met with the partner the murder of the master
COMMENT