लुधियाना

  • Hindi News
  • Punjab
  • Ludhiana
  • बयान देने थाने गई महिला, घर पहुंची तो एएसआई ने फोन कर किए ब्यूटी पर कमेंट
--Advertisement--

बयान देने थाने गई महिला, घर पहुंची तो एएसआई ने फोन कर किए ब्यूटी पर कमेंट

शिमलापुरी इलाके में रहने वाली महिला की शादी सात साल पहले मंडी अहमदगढ़ में हुई। घरेलू विवाद के चलते महिला काफी समय...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:30 AM IST
शिमलापुरी इलाके में रहने वाली महिला की शादी सात साल पहले मंडी अहमदगढ़ में हुई। घरेलू विवाद के चलते महिला काफी समय से मायके में रह रही है। 28 अप्रैल को किसी काम से अपने पति के पास अहमदगढ़ गई, उसके वापस आने के बाद पति ने अहमदगढ़ थाना सिटी में झगड़े की शिकायत दर्ज करवा दी। जांच करने वाले एएसआई सुरजीत सिंह ने महिला को थाने बुलाया और वापस भेज दिया। महिला का आरोप है कि इसके बाद एएसआई उससे फोन पर गलत बातें करने लगा। उसकी सुंदरता पर कमेंट किए, उसे अकेले थाने में उसके कमरे में आने को कहा। महिला ने एएसआई की सारी बात मोबाइल में रिकॉर्ड कर ली। यह रिकॉर्डिंग दैनिक भास्कर के पास मौजूद है। मगर नैतिकता के आधार पर लड़की का नाम नहीं लिखा जा रहा है।

बेटे का आधार कार्ड लेने गई थी अहमदगढ़: पीड़िता ने बताया कि ससुराली दहेज के लिए परेशान करते थे। उसका छह साल का बेटा है। इसके कारण वह सबकुछ बर्दाश्त करती रही, मगर हालात ज्यादा खराब हुए तो वह लुधियाना आकर मायके रहने लगी। उसके बेटे के स्कूल में आधार कार्ड मांगा गया था। शनिवार को वह अपनी दोस्त के साथ आधार कार्ड लेने पति के पास अहमदगढ़ गई। जिस शोरूम में पति नौकरी करता है, वहां पहुंची तो देखते ही पति गाली-गलौच करने लगा। काफी बहस के बाद वह वापस लुधियाना आ गई। उनकी बहस होते पूरे बाजार और पति के मालिक ने देखा था, लेकिन पति ने अहमदगढ़ सिटी थाने जाकर शिकायत दे दी कि वह कुछ लोगों को साथ लेकर पति को पीटने आई थी। मामले की जांच कर रहे एएसआई सुरजीत सिंह ने उसे बुलाया तो इतवार वह थाने गई और अपने बयान देकर वापस आ गई। उसका आरोप है कि शाम को सुरजीत सिंह ने उसे फोन कर उसकी ब्यूटी पर कमेंट किए और सुबह दस बजे थाने आने के लिए कहा।

एएसआई से हुई बातचीत महिला ने की रिकॉर्ड

पीड़िता की ओर से 1.31 मिनट की जो ऑडियो क्लिप रिकॉर्ड की गई है, उसमें पीड़िता के मोबाइल पर फोन आता है। हेल्लो-हेल्लो, हां जी….बोलदी हो जी। हां जी सर नमस्ते। नमस्ते जी होर की हालचाल। बहुत वदिया सर जी तुसीं दस्सो। बहुत वदिया वैरी फाइन कल नूं तुसी आ जाओ दस कू वजे सवेरे। दस वजे, ओके सर कोई गल्ल नईं। लै आईयो ओहनां नूं जो नाल आए सी। ठीक एे कोई गल्ल नईं, सर मेरी गल्ल सुनो, किसे दी कुड़ी नाल आई सी अगली दा या साड्डा कोई कसूर नईं ऐ, मैं नहीं चाहंदी ओहनू नाल लिआणा, तुसीं कहोगो मैं चार बंदे होर लै आवांगी। मेरी गल्ल सुनो मैं आप वेरीफाई करना ऐ, ओहना दे सामने नहीं गल्ल करदा, ले आओ ओहनां तो पहले तुहाड्डे नाल गल्ल कर लांगे। सर मेरी दोस्त ऐ, मैं नईं चाहंदी मेरे घर दी कोई गल्ल उस कुड़ी ते पवे, अंकल जी तुसीं खुद समझदार हो मेरी दोस्त ऐ ओ। बाकी जिद्दां तुसीं कहो कर लवांगे। तुहाड्डियां फोटोवां देखियां बड़िया वदिया सी, वैरी फाइन बहुत स्मार्ट लगदे हों तुसीं। थैंक्यू सर, ओके सर असीं कल आ जांगे। थैंक्यू जी।

सोमवार सुबह फोन कर कहा, पीछे वाले गेट से मेरे कमरे में आना: पीड़िता ने बताया कि सोमवार सुबह करीब साढ़े नौ बजे दोबारा उसे एएसआई सुरजीत सिंह का फोन आया। उसका आरोप है कि एएसआई ने कहा कि थाने के मेन गेट से मत आना। थाने के पीछे छोटा गेट बना हुआ है, वहां से अंदर आकर सीधे उसके कमरे में आ जाना। वह अकेले में कुछ बात करना चाहता है। पीड़िता का कहना है कि वह अपने परिवार वालों को साथ लेकर मेन गेट से ही अंदर गई थी, वहां उसका पति भी मौजूद था। वहां दोनों पक्षों की बातचीत होने के बाद वह वापस लुधियाना आ गई।

मेरे मन में कोई गलत भावना नहीं




X
Click to listen..