--Advertisement--

मन से जपो श्रीराम का नाम: बेदी

सिविल लाइंस स्थित श्री राम पार्क श्री राम शरणम् में सत्संग का आयोजन किया गया। अमृतवाणी धर्मार्थ ट्रस्ट के प्रमुख...

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 03:45 AM IST
मन से जपो श्रीराम का नाम: बेदी
सिविल लाइंस स्थित श्री राम पार्क श्री राम शरणम् में सत्संग का आयोजन किया गया। अमृतवाणी धर्मार्थ ट्रस्ट के प्रमुख संत अश्वनी बेदी महाराज ने कहा कि संसार में पापों की जड़ काम, क्रोध, लोभ, मोह और अहंकार है। मनुष्य सर्वगुण संपन्न और चतुर है। चाहेे उसको अल्प लोभ ही क्यों न हो, कभी भला नहीं कहता। हे मन, काम, क्रोध, मद, लोभ ये सब नर्क के मार्ग हैं। इन सबको छोड़ कर रघुवीर को भजो, जिन्हें संत भजते हैं। तलवार और कानूनी सत्ता पर जो राज्य शासन किया जाता है। प्रजा को प्रसन्न रखने का प्रय| नहीं किया जाता है। वह सत्ता शीघ्र ही नष्ट हो जाती है। काम, क्रोध तो समय टल जाने पर शांत भी हो जाते हैं, लेकिन लोभ कभी शांत नहीं होता। लोभी को कभी तृप्ति नहीं होती, उसे तो कामना की प्राप्ति होने पर भी संतोष नहीं होता।

बेदी ने कहा कि जिस प्रकार थोड़ा-सा कोढ़ अति सुंदर स्वरूप को बिगाड़ देता है। उसी प्रकार थोड़ा-सा लोभ यशस्वियों के यश और गुणवानों के गुणों को नष्ट कर देता है। लोभी मनुष्य का गुरु भी ‘दाम’ रुपया पैसा होता है। गीता के 16वें अध्याय में उपदेश है कि लोभी मनुष्य तो अपनी कामनाओं को तृप्त करना ही जीवन का उद्देश्य मानता है। कामना के भोगों में निमग्न मर कर घोर नर्क में जाता है। आपकी संसारी यात्रा खराब न हो, इसलिए भगवान के भक्त बनो। मन से राम नाम जपो। अपने कर्मों से भगवान की पूजा करो। अपनी नेक कमाई से दीन-दुखियों के दुख दूर करने के लिए सेवा-सहायता करो। मां रेखा बेदी और महिला मंडल ने मधुर भजनों का गायन किया। इस मौके पर साधक-साधिकाओं की ओर से प्रवचन सुनकर गुरु महाराज का आशीर्वाद लिया।

सिविल लाइंस स्थित श्री राम शरणम् में सत्संग के दौरान महिला मंडल ने मधुर भजनों का गायन किया।

X
मन से जपो श्रीराम का नाम: बेदी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..