• Home
  • Punjab
  • Ludhiana
  • लुधियाना कोर्ट में जमा 4 सीडियों में से तीन गायब, एक खाली मिली
--Advertisement--

लुधियाना कोर्ट में जमा 4 सीडियों में से तीन गायब, एक खाली मिली

परमिंदर बरियाणा | होशियारपुर लुधियाना के जमालपुर में 2014 में समराला पुलिस की ओर से दो सगे भाइयों के फेक एनकाउंटर...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 04:30 AM IST
परमिंदर बरियाणा | होशियारपुर

लुधियाना के जमालपुर में 2014 में समराला पुलिस की ओर से दो सगे भाइयों के फेक एनकाउंटर के मामले में लुधियाना की एक अदालत से केस से संबंधित 3 सीडियां गायब हो गई हैं जबकि एक सीडी से रिकॉर्ड वॉश हो गया है। इसका खुलासा उस समय हुआ जब जज अमर पॉल की अदालत केस की सुनवाई चल रही थी और केस इन सीडियों की गवाही तक पहुंचा। इस दौरान पता चला कि पोस्टमार्टम की 2, घटना स्थल की एक सीडी तो रिकॉर्ड से गायब ही हो चुकी है जबकि एसीपी टिवाणा और एसएचओ के बीच हुई बातचीत की सीडी का रिकॉर्ड ही वाश निकला। पीड़ित पक्ष के वकील सर्वजीत सिंह बेरका ने कहा कि यह एक गंभीर साजिश के तहत किया गया है।

एसएचओ और सरपंच समेत 6 लोगों पर दर्ज हुआ था केस : वकील सर्वजीत सिंह बेरका ने बताया कि 27 सितम्बर 2014 को समराला थाना के एसएचओ मनजिंदर सिंह ने पुलिस पार्टी और गांव वोहा के सरपंच गुरजीत सिंह सैम के साथ लुधियाना के जमालपुर इलाके में रेड मारकर वोहा के ही दो सगे भाइयों गुरिंदर सिंह और जतिंदर सिंह को गोलियां मार दी थीं। इस दौरान कहानी यह बना दी कि इन्होंने पुलिस पर फायरिंग की जवाबी फायरिंग में यह मारे गए। मामला बढ़ता देखकर सरकार ने एसएसपी रविचरण सिंह बराड़, एसीपी लखवीर सिंह टिवाणा सहित एसआईटी बना दी और इसी दौरान एसआईटी ने एसएचओ मनजिंदर सिंह, सरपंच गुरजीत सिंह सैम सहित 6 लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया और एसएचओ मनजिंदर सिंह और उसका गनमैन सुखबीर सिंह अदालत ने भगौड़े घोषित कर रखा है जबकि सरपंच गुरजीत सिंह सहित यादविंदर सिंह, बलदेव सिंह व अजीत सिंह जेल में बंद हैं।

कोर्ट में चलाई जा चुकी हैं चारों सीडियां : बताते हैं कि जब इस केस की जांच चल रही थी तो उस समय दोनों भाइयों के पोस्टमार्टम की रिकार्डिंग की दो सीडियां, घटनास्थल की रिकार्डिंग की सीडी और एक सीडी एसीपी लखवीर सिंह टिवाणा और एसएचओ के बीच हुई अहम बातचीत की तैयार की गई थी। चारों सीडी को गिरफ्तार आरोपियों की जमानत की सुनवाई के दौरान चलाया गया था।

मामला : जमालपुर में दो सगे भाइयों को मार दिया था फेक एनकाउंटर में

पुलिस बचा रही है पुलिस वालों को : सतपाल सिंह

मृतक दो सगे भाइयों के पिता सतपाल सिंह ने कहा कि पुलिस इस मामले में आरोपी पुलिस वालों को बचा रही है और अब यह बात भी निकलकर सामने आई है कि अभी तक पुलिस ने पीओ एसएचओ को पकड़ने के लिए कोई कार्रवाई नहीं की है और यह रिकॉर्ड साजिश के तहत गुम किया गया है ताकि इसमें एसएचओ को बचाया जा सके। उन्होंने कहा कि उनके बेटों को सिर्फ इसलिए मार दिया था क्योंकि वह आम आदमी पार्टी की हिमायत करते थे और गांव में आप को वोट भी मिली थी जिसकी वजह से अकाली सरपंच गुरमीत सिंह सैम रंजिश रख रहा था।

जेल में बंद पुलिस वाले बोले, हमारे पास हैं कॉपी

इस केस में शामिल दूसरे पुलिस मुलाजिम जोकि जेल में हैं ने अदालत में एक अर्जी दायर की है कि उनके पास अदालत की ओर से दी गई सीडी की कॉपियां मौजूद हैं और वे अदालत को यह कापियां देना चाहते हैं जिसकी सुनवाई 18 मई को होगी।