वारदात / गर्लफ्रेंड से शादी करने के लिए पैसे नहीं थे, 15 लाख सुपारी लेकर किया मर्डर

Dainik Bhaskar

Oct 13, 2018, 08:25 AM IST



murder of contract
X
murder of contract

लुधियाना में आर्किटेक्ट के कत्ल का आरोपी व साथी गिरफ्तार 

  •  

लुधियाना.  दुगरी फेस-1 में अार्किटेक्ट मनदीप सिंह का मर्डर करने वाले आरोपी गुरविंदर सिंह (27) और उसके एक साथी अमनपाल (42) को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वीरवार को हुई हत्या में इस्तेमाल रिवॉल्वर और बाइक भी बरामद कर ली है। सुपारी देने वाला मास्टरमाइंड बलविंदर सिंह फरार है। सीसीटीवी फुटेज में आरोपी की पहचान हो गई थी। मोबाइल लोकेशन ट्रेस कर उसे दुगरी में ही पकड़ा। 


पुलिस कमिश्नर डाॅ. सुखचैन सिंह गिल के मुताबिक हार्डवेयर डिप्लोमा होल्डर गुरविंदर ने बताया कि वह दुगरी में ही नौकरी करता है। उसका साथी अमनपाल टैक्सी ड्राइवर है। गुरविंदर के मुताबिक वह अक्सर बलविंदर के साथ बैठ कर शराब पीता था। बलविंदर को पता था कि गुरविंदर की एक गर्लफ्रैंड है और वह उससे धूमधाम से शादी करना चाहता है। लेकिन गुरविंदर की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है। एक दिन उसने मर्डर का सौदा कर लिया। बलविंदर ने आरोपी गुरविंदर को वारदात के बाद 5 लाख आैर बाकी 10 लाख 1 साल की किश्तों में देनेे थे। अभी उसे केवल 22 हजार रुपए ही दिए गए थे। बलविंदर सिंह आर्किटेक्ट मनदीप से बदला लेना चाहता था क्योंकि उसकी पत्नी से उसके संबंध थे। वीरवार सुबह 10:30 बजे उसने मनदीप को गोली मार दी। 

 

प्रॉपर्टी डीलर के घर से चुराई रिवॉल्वर, गन हाउस में ली ट्रेनिंग : गुरविंदर की उसकी गर्लफैंड से 14 अक्तूबर को शादी होनी थी। सौदा तय होने पर गुरविंदर ने मनदीप की रैकी करनी शुरू कर दी। मर्डर के लिए उसने एक प्रॉपर्टी डीलर के घर से रिवॉल्वर चुराई। गुरविंदर की मां इस डीलर के घर काम करती थी। इसलिए उसे पता था कि डीलर रात को रिवाल्वर अपने सिराहने रख कर सोता है और सुबह अल्मारी में रख देता है। उसके बाद करीब डेढ़ घंटे के लिए वह धार्मिक स्थान पर जाता है। उसने डीलर की रिवॉल्वर की चोरी की। 6 कारतूसों का प्रबंध बलविंदर ने अपने फिरोजपुर के एक जानकार से करवाया। यहां गन हाउस मालिक ने गुरविंदर को रिवाल्वर चलाने की ट्रेनिंग दी। 

 

5 बार असफल रहा, 6वें प्रयास में कत्ल कर दिया : रिवाल्वर चलाने की ट्रेनिंग व कारतसू मिलने के बाद आरोपी ने 5 बार मनदीप पर हमला करने की कोशिश की। लेकिन हर बार वह बच जाता था। गुरविदर हर बार प्रापर्टी डीलर के घर से रिवाल्वर चोरी कर लाता था और बाद में अपने कारतूस निकाल कर उसके कारतूस डाल कर रिवाल्वर वहीं रख देता था। 5 अक्तूबर को गुरविंदर ने आलमगीर गुरुद्वारा के बाहर से बाइक चोरी की। डीलर के घर से रिवॉल्वर चुराई और वीरवार को हत्या कर दी। 

COMMENT