पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पार्किंग सरेंडर नहीं कर सकते ठेकेदार नगर निगम ने खारिज किया आवेदन

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
तीन पार्किंग सरेंडर करने के लिए काॅन्ट्रेक्टरों ने दिए थे लेटर
पार्किंग छोड़ी फिर एग्रीमेंट के मुताबिक नगर निगम कर देगा ब्लैक लिस्ट

सिटी रिपोर्टर | लुधियाना

तीन पार्किंगों में जॉइंट कमिश्नर कुलप्रीत सिंह के ओवरचार्जिंग पकड़ने के बाद ब्लैक लिस्ट होने से बचने को ठेकेदाराें का पार्किंग सरेंडर का दांव बेअसर हो गया है। निगम ने पार्किंग सरेंडर करने के उनके आवेदन को खारिज कर दिया है। इसमें तर्क दिया गया कि निगम और काॅन्ट्रेक्टर के बीच जो एग्रीमेंट हुआ है, उसकी नियम-शर्तों में कहीं भी सरेंडर करने या पार्किंग छोड़ने का कोई प्रावधान नहीं रखा गया है। ऐसे में काॅन्ट्रेक्टर को पार्किंग चलानी ही होगी। अगर उसने पार्किंग छोड़ी तो फिर एग्रीमेंट के मुताबिक निगम उन्हें ब्लैक लिस्ट कर देगा।

बता दें कि कुछ दिन पहले निगम के जॉइंट कमिश्नर ने प्राइवेट गाड़ी में जाकर पार्किंग चेक की थीं, जिसमें फिरोज गांधी मार्केट, माल रोड और भदौड़ हाउस में कार के 10 की जगह उनसे 20 रुपए लिए गए। इसके बाद उन्होंने तीनों पार्किंग को कैंसिल कर ठेकेदार को ब्लैक लिस्ट करने के लिए भेज दिया गया। निगम कमिश्नर कंवलप्रीत बराड़ ने इसे मंजूर करते हुए आखिरी अप्रूवल के लिए एफएंडसीसी को भेज दिया। यह फाइल मेयर बलकार संधू के दफ्तर पहुंची, लेकिन उसके बावजूद इसे एफएंडसीसी की मीटिंग में नहीं रखा गया। इसी दौरान ठेकेदारों ने तीन पार्किंगों माॅडल टाउन एक्सटेंशन, सराभा नगर आई ब्लॉक और बीआरएस नगर मार्केट को सरेंडर करने का अावेदन कर दिया। ठेकेदारों का कहना था कि निगम ने वहां पर कोई बंदोबस्त नहीं किए। न उन्हें डिजाइन दिया गया और न ही निगम ने इन-आउट बनाकर दिए। इसलिए वो पार्किंग नहीं चलाना चाहते। हालांकि सुपरिंटेंडेंट मनोज कुमार के मुताबिक जब टीम ने तीनों पार्किंग साइट की विजिट की तो वहां पर अभी भी फीस ली जा रही है, जिसकी रिपोर्ट उन्होंने आगे जॉइंट कमिश्नर को भेज दी है।

खबरें और भी हैं...