पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पहली बार पीएयू का किसान मेला स्थगित

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित किया जाने वाला किसान मेला नोवल कोरोना वायरस के चलते स्थगित करने का निर्णय लिया गया है। जानकारी के मुताबिक एेसा पहली बार हुआ है कि किसान मेले को स्थगित किया गया हो। हालांकि पहले मौसम के चलते मेला दो में से एक दिन में भीड़ कम रही हो एेसा तो हुआ है लेकिन मेला स्थगित कभी नहीं हुआ। इस मेले के जरिए किसान जहां अच्छी किस्म के बीज हासिल करने के लिए आते हैं। वहीं, उन्हें खेती से जुड़े कई तरह के प्रिंटेड मेटिरियल भी आसानी से मिल जाते हैं। पीएयू द्वारा खरीफ मौसम के मेले पांच जगह पर लगाए जाने थे। जिन्हें नोवल कोरोना वायरस के कारण स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी एडवाइजरी को ध्यान में रखते स्थगित करने का निर्णय लिया गया। 12 मार्च को गुरदासपुर और फरिदकोट, 17 मार्च को रौणी(पटियाला), 20-21 मार्च को पीएयू लुधियाना और 25 मार्च को बठिंडा में किसान मेले आयोजित होने थे। इन मेलों को स्थगित करने का निर्णय वाइस चांसलर डॉ.बलदेव सिंह ढिल्लों की अध्यक्षता में हुई मीटिंग में सर्वसम्मति से लिया गया। सूत्रों के मुताबिक अगर यूनिवर्सिटी द्वारा बाद में भी इस मेले को करने का निर्णय लिया जाता है। तो उसका किसानों का कोई फायदा नहीं होगा। किसान अभी खाली रहते हैं। बीज मिलने के बाद वो बिजाई, उनकी देखभाल, पकने और फिर कटाई में व्यस्त हो जाएंगे। जिसके कारण खरीफ के मौसम के मेले को बाद में करने से फायदा नहीं होगा।

चीन या नेपाल का किया है दौरा तो 14 दिन तक घर में रहें


पिछले दिनों में चीन या नेपाल में किया है दौरा तो अपने घर में ही 14 दिनों के लिए रहें और किसी भी भीड़ वाली जगह का दौरा न करें। ये एडवाइजरी पंजाब सरकार द्वारा जारी की गई है। नोवल कोरोना वायरस को देखते हुए अब पंजाब सरकार द्वारा भी आम लोगों के लिए एडवाइजरी जारी कर दी गई है। अधिक जानकारी के लिए हेल्पलाइन नंबर 104 पर संपर्क किया जा सकता है ।

एडवाइजरी

कोरोना-वायरस: वाइस चांसलर के साथ मीटिंग में हुआ निर्णय

खबरें और भी हैं...