पंजाब / भारत राजनैतिक शरण चाह रहे पाकिस्तान के पूर्व विधायक के कत्ल पर 50 लाख का इनाम



खन्ना में अपने दोनों बच्चों के साथ पाकिस्तान के पूर्व विधायक बलदेव कुमार। खन्ना में अपने दोनों बच्चों के साथ पाकिस्तान के पूर्व विधायक बलदेव कुमार।
X
खन्ना में अपने दोनों बच्चों के साथ पाकिस्तान के पूर्व विधायक बलदेव कुमार।खन्ना में अपने दोनों बच्चों के साथ पाकिस्तान के पूर्व विधायक बलदेव कुमार।

  • पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी पीटीआई के नेता हाजी नवा‍व में फेसबुक पर डाली पोस्‍ट
  • कुछ महीने पहले परिवार को भेजा, वही 12 अगस्त को तीन महीने के वीजा पर खुद भी खन्ना आ गए थे बलदेव कुमार

Dainik Bhaskar

Oct 01, 2019, 01:48 PM IST

खन्ना(लुधियाना). भारत आकर राजनैतिक शरण मांगने वाले पाकिस्तान के पूर्व विधायक बुलदेव कुमार के कत्ल पर पाकिस्तान में 50 लाख रुपए का इनाम रखा गया है। यह ऐलान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के नेता ने किया है। इस नेता ने कहा है कि बलदेव कुमार पाकिस्‍तान लौटे तो वह खुद उसकी हत्‍या करेगा। इसके साथ ही पाकिस्‍तान में रह रहे खालिस्‍तान समर्थक गोपाल सिंह चावला ने भी बलदेव पर अपनी भड़ास निकाली है।

 

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के नेता हाजी नवा‍व में फेसबुक पर पोस्‍ट डालकर बलदेव कुमार को लेकर जहर उगला है। उसने बलदेव कुमार की हत्‍या की धमकी दी है और उनकी हत्‍या के लिए इनाम देने की बात कही है। फेसबुक पर डाली पोस्ट में हाजी नवाब ने कहा है कि बलदेव कुमार अगर पाकिस्तान लौट आए तो उसकी मौत मेरे हाथों होगी। अगर भारत में कोई उसका कत्ल करेगा तो उसे 50 लाख रुपए का इनाम दिया जाएगा। इसके अलावा खालिस्तान परस्त पाक सिख नेता गोपाल सिंह चावला ने एक बार फिर बलदेव के खिलाफ जहर उगला है। गोपाल सिंह चावला ने भी फेसबुक पर पोस्‍ट डालकर बलदेव कुमार पर निशाना साधा है। चावला इससे पहले भी बलदेव कुमार के खिलाफ पोस्‍ट कर अपनी भड़ास निकलता रहा है।

 

धमकी के बाद पूर्व नेता से हुई हाजी की बहस

हाजी नवाब द्वारा डाली गई पोस्ट पर पीटीआई के पूर्व नेता और पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) के मौजूदा नेता जेके यूसुफ जई से तीखी बहस हुई। उन्होंने धमकी भरी पोस्ट पर एतराज जताकर पूछा कि हाजी कौन होते हैं बलदेव को मारने वाले। बता दें कि पीडीएम पाकिस्तान सेना द्वारा आम जनता पर किए जाने वाले जुल्मों के खिलाफ लड़ाई लड़ती है।

 

खन्ना की युवती से 2007 में हुई थी शादी

बलदेव की शादी 2007 में खन्ना की रहने वाली भावना से हुई थी। शादी के समय वह पाकिस्तान में पार्षद थे और बाद में विधायक बने। इन दिनों वह खन्ना के समराला मार्ग पर स्थित मॉडल टाउन में दो कमरों के किराये के मकान में अपने परिवार के साथ दिन गुजार रहे हैं।

 

12 अगस्त को आए थे भारत

बलदेव ने कुछ महीने पहले परिवार को यहां लुधियाना के खन्ना भेज दिया था। 12 अगस्त को तीन महीने के वीजा पर खुद भी यहां आ गए थे। लेकिन, अब वह वापस नहीं लौटना चाहते। बलदेव का कहना है कि अल्पसंख्यकोंं पर पाकिस्तान में अत्याचार हो रहे हैं। हिंदू और सिख नेताओं की हत्याएं की जा रही हैं। इसलिए वह जल्द ही भारत में शरण के लिए आवदेन करेंगे।

 

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना