मोक्ष में जाने को मन की शुद्धि जरूरी : अचल मुनि

Ludhiana News - जैन स्थानक शिवपुरी में विराजमान गुरु सुदर्शन के शिष्य व संघ संचालक नरेश मुनि महाराज के आज्ञानुवृत्ति ओजस्वी...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 08:21 AM IST
Ludhiana News - purification of mind is necessary to go into salvation immovable muni
जैन स्थानक शिवपुरी में विराजमान गुरु सुदर्शन के शिष्य व संघ संचालक नरेश मुनि महाराज के आज्ञानुवृत्ति ओजस्वी वक्ता गुरुदेव अचल मुनि महाराज ठाणे 5 ने फरमाया कि आज मोक्ष में जाने के चौथे उपाय की चर्चा करेंगे। मोक्ष में जाने के लिए शुद्धि बहुत जरूरी है। पर शुद्धि किस चीज की हो? तन की या मन की? अरे तन की शुद्धि करते हुए तो अनादि काल व्यतीत हो गया, कमी इसी चीज की रही कि हमने अपने मन का निरीक्षण नहीं किया। मन की गंगा को बनाओ स्वच्छ एवं निर्मल। अरे वस्त्र गंदा हो गया तो साबुन से धो लोगे, लेकिन मन गंदा हो तो? मन को धोने के लिए सत्संग है। सत्संग के साबुन से मन का मैल धूलता है। लोग मंदिर जाते हैं तो कपड़े बदल कर जाते हैं, साफ-सुथरे कपड़े पहन कर जाते हैं, लेकिन मैं चाहता हूं कि सिर्फ कपड़े बदल कर न जाइए, बल्कि अपना मन भी बदल कर जाइए। । शीतल मुनि महाराज ने कहा कि चलते हुए संत को कभी मत रोको क्योंकि वह तुम्हारे ही किसी भाई के कल्याण के लिए जा रहा है। संत समाज के सुधार का काम करता है। अरे भले संत बोल कर कोई उपदेश ना दे पर संत का तो कण-कण ही अपने आप में प्रेरणा स्रोत होता है। संत के जीवन को देख कर अपने जीवन में जरूर ऊंचाइयां लेकर आएंं। इस दौरान भारी संख्या में श्रावक-श्राविकाओं ने गुरु महाराज के प्रवचन सुन आशीर्वाद प्राप्त किया।

X
Ludhiana News - purification of mind is necessary to go into salvation immovable muni
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना