फ्री स्टाइल रेसलिंग में जिले के संदीप सिंह ने 12 साल बाद पंजाब को दिलवाया गोल्ड

Ludhiana News - स्पोर्ट्स रिपोर्टर | लुधियाना सीनियर नेशनल रेसलिंग चैंपियनशिप की फ्री स्टाइल कैटेगरी में में 12 साल बाद संदीप ने...

Dec 04, 2019, 08:31 AM IST
स्पोर्ट्स रिपोर्टर | लुधियाना

सीनियर नेशनल रेसलिंग चैंपियनशिप की फ्री स्टाइल कैटेगरी में में 12 साल बाद संदीप ने पंजाब की झोली में गोल्ड मेडल डाला। इससे पहले 2007 में अर्जुन अवॉर्डी पलविंदर चीमा ने फ्री स्टाइल रेसलिंग में मेडल जीता था। जालंधर स्थित पीएपी में 29 से 1 नवंबर तक कराई गई चैंपियनशिप में किसान के बेटे व रेसलर संदीप सिंह ने फाइनल में रेलवे के जतिंदर को हराकर गोल्ड मेडल जीता। गौर हो कि जतिंदर पिछले 4-5 साल से रेसलिंग में टॉप का खिलाड़ी रह चुके हैं। संदीप ने सीनियर नेशनल रेसलिंग चैंपियनशिप में 79 किलोग्राम भार वर्ग फ्री स्टाइल कैटेगरी में हिस्सा लिया, जोकि पंजाब से इस कैटेगरी में अकेले खिलाड़ी रहे। उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय अपने अभिभावकों और कोच को दिया। अब संदीप इंडिया कैंप के लिए चुने गए हैं, जोकि सोनीपत बहालगढ़ में लगेगा।

संदीप के कोच सुखमिंदर सिंह ने बताया कि संदीप ने इससे पहले जुलाई में थाईलैंड में हुई जूनियर एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप में 79 किलोग्राम भार वर्ग में फ्री स्टाइल कैटेगरी में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। संदीप को खेलों में आगे बढ़ाने में क्लब 21 सहयोग कर रहा है।

जूनियर रेसलिंग में भी जीत चुका गोल्ड

कोच सुखमिंदर सिंह के मुताबिक संदीप उनके पास खन्ना के मीरी-पीरी अखाड़ा में दिसंबर 2011 से प्रैक्टिस कर रहा है, जो इससे पहले भी विभिन्न मेडल जीत सबका नाम चमका चुका है। उसने इसी साल गुजरात में आयोजित जूनियर नेशनल रेसलिंग चैंपियनशिप में भी गोल्ड मेडल जीता था।

वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप में मेडल जीतना लक्ष्य

मानसा के गांव बुर्जलाठी के रहने वाले संदीप की दिलचस्पी शुरू से ही रेसलिंग में रही। उनका लक्ष्य वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप में मेडल हासिल करना है। उसके मुताबिक अभिभावकों समेत ताया जी ने भी हमेशा सहायता की। उनकी वजह से ही सफलता पाई। संदीप डीएवी कॉलेज बठिंडा में बीए फर्स्ट की पढ़ाई कर रहे हैं। संदीप ने पहले भी सब-जूनियर एशियन चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज मेडल जीता था।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना