पंजाब / सेना के हेलिकॉप्टर की इमरजेंसी लैंडिंग, पायलट ने खेत में उतारा; पटियाला से पठानकोट लेकर जा रहा था

रोपड़ जिले के गांव बन माजरा के खेत में उतारा गया सेना का हेलीकॉप्टर।
मदद के लिए मंगवाया दूसरा हेलीकॉप्टर लैंड करते हुए। मदद के लिए मंगवाया दूसरा हेलीकॉप्टर लैंड करते हुए।
खेत में तकनीकी खराबी के बाद इमरजेंसी लैंड किए गए हेलीकॉप्टर के पास लैंड मदद के लिए आया हेलीकॉप्टर। खेत में तकनीकी खराबी के बाद इमरजेंसी लैंड किए गए हेलीकॉप्टर के पास लैंड मदद के लिए आया हेलीकॉप्टर।
X
मदद के लिए मंगवाया दूसरा हेलीकॉप्टर लैंड करते हुए।मदद के लिए मंगवाया दूसरा हेलीकॉप्टर लैंड करते हुए।
खेत में तकनीकी खराबी के बाद इमरजेंसी लैंड किए गए हेलीकॉप्टर के पास लैंड मदद के लिए आया हेलीकॉप्टर।खेत में तकनीकी खराबी के बाद इमरजेंसी लैंड किए गए हेलीकॉप्टर के पास लैंड मदद के लिए आया हेलीकॉप्टर।

  • हेलिकॉप्टर सेना के तीन अफसरों को लेकर पठानकोट लेकर जा रहा था, 10 बजे रोपड़ में हुई इमरजेंसी लैंडिंग
  • स्थानीय पुलिस के डीएसपी के मुताबिक- सैन्य अफसरों ने इस लैंडिंग को ट्रेनिंग का हिस्सा बताया है

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2020, 09:05 PM IST

रोपड़/कुराली (कुलवंत सिंह). सेना के एक हेलिकॉप्टर में गुरुवार सुबह कोई तकनीकी खराबी आ गई, जिसे पायलट ने बड़ी सूझ-बूझ के साथ सुरक्षित लैंड कराया है। यह हेलिकॉप्टर रोपड़ जिले के कुराली इलाके में स्थित गांव बन माजरा के एक खेत में उतारा गया है। गनीमत रही कि किसी भी तरह का कोई जानी नुकसान नहीं हुआ। इस लैंडिंग को सेना के अधिकारी ट्रेनिंग का हिस्सा बता रहे हैं।

घटना सुबह करीब 10 बजे की है, जब गांव बन माजरा के खेतों में अचानक एक हेलीकॉप्टर उतरता दिखाई दिया। किसी अनहोनी की आशंका के चलते खेतों में लोगों की भीड़ जुटना शुरू हो गई, लेकिन गनीमत रही कि ऐसा कुछ नहीं हुआ। पता चला है कि सेना के एक हेलिकॉप्टर ने 3 अफसरों को लेकर पटियाला से पठानकोट के लिए उड़ान भरी। जब यहां रोपड़ के कुराली इलाके से गुजर रहा था तो अचानक इसमें कोई तकनीकी खराबी आ गई। इसके बाद पायलट ने सूझ-बूझ का परिचय देते हुए हेलिकॉप्टर को सुरक्षित ढंग से इमरजेंसी लैंड कराया।

उधर, सूचना पाकर स्थानीय पुलिस भी घटनास्थल पर पहुंच गई थी। इस बारे में ज्यादा जानकारी देते हुए रोपड़ के डीएसपी रवि कुमार ने बताया कि उन्हें किसी तकनीकी खराबी के चलते एक आर्मी हेलीकॉप्टर की इमरजेंसी लैंडिंग की सूचना मिली थी। हालांकि, इसमें सवार सैन्य अधिकारियों का कहना है कि यह एक फौज की एक्सरसाइज थी। उन्होंने कहा कि इसके अलावा उनको फौज के अधिकारियों के द्वारा कुछ भी नहीं बताया गया।

वहीं, दूसरी ओर मदद के लिए दूसरा हेलिकॉप्टर भी मंगवाया गया। करीब डेढ़ घंटे के बाद घटनास्थल पर सेना का दूसरा हेलीकॉप्टर भी पहुंचा उसमें से फौज के अधिकारियों के द्वारा पहले वाले हेलीकॉप्टर की जांच परख करने के बाद मानो कुछ मरम्मत की गई हो और पहले हेलीकॉप्टर को उड़ाया गया।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना