सोल प्रोपराइटर की मौत पर उत्तराधिकारी को नया जीएसटी रजिस्ट्रेशन नंबर लेना होगा

Ludhiana News - भास्कर एक्सपर्ट ? मेरे पिता की मृत्यु हो गई है। उन्होंने जीएसटी का नंबर लिया हुआ था। अब मैं उनके बिजनेस को आगे...

Mar 22, 2020, 07:56 AM IST

भास्कर एक्सपर्ट


? मेरे पिता की मृत्यु हो गई है। उन्होंने जीएसटी का नंबर लिया हुआ था। अब मैं उनके बिजनेस को आगे चलाऊंगा। क्या मुझे नया जीएसटी नंबर लेना पड़ेगा? मुझे क्या प्रोसीजर फॉलो करना पड़ेगा? -अंकुर शर्मा, लुधियाना।

{जीएसटी रजिस्ट्रेशन पैन नंबर आधारित है। यदि आपके पिता सोल प्रोपराइटर थे तो उनका रजिस्ट्रेशन फॉर्म जीएसटी आरईजी-16 भर कर कैंसिल करवाना पड़ेगा। आपको उसमें जीएसटी कैंसिलेशन का कारण डेथ ऑफ प्रोपराइटर लिखना पड़ेगा। साथ ही आपको अपने पैन नंबर पर नया जीएसटी रजिस्ट्रेशन लेना पड़ेगा। आपको जीएसटी आरईजी- 01 भरकर जीएसटी नंबर लेने का कारण डेथ ऑफ प्रोपराइटर लिखना पड़ेगा। जीएसटी आईटीसी- 02 भर कर अपने पिता के जीएसटी नंबर की इलेक्ट्रॉनिक क्रेडिट लेजर में पड़े हुए अनयूटिलाइज्ड इनपुट टैक्स क्रेडिट को भी अपनी इलेक्ट्रॉनिक क्रेडिट लेजर में ट्रांसफर कर सकते हैं। पिता के जीएसटी नंबर की बकाया टैक्स, इंटरेस्ट या पेनेल्टी के लिए आप ही लॉयबल होंगे।

? मैं एक लोहा व्यापारी हूं। मैंने अपने व्यापार के लिए एक ट्रक खरीदा है, जो मेरे बनाए हुए माल को व्यापारियों तक पहुंचाएगा। क्या मुझे इस ट्रक खरीद का आईटीसी मिलेगा? यदि मैं अपने व्यापार के लिए कार खरीदता हूं, तो क्या मुझे उसकी खरीद पर आईटीसी मिलेगा? -अजय जैन, व्यापारी

{यदि आप अपने ट्रक को बिजनेस के लिए इस्तेमाल करते हो, तो आपको उस ट्रक की खरीद पर लगा इनपुट टैक्स क्रेडिट मिलेगा। परंतु यदि आप कोई मोटर व्हीकल ( कार ) खरीदते हैं तो जीएसटी की धारा 17 (5) के तहत आपको उस कार की खरीद का आईटीसी नहीं मिलेगा। यदि आप कार की खरीद-बिक्री का काम करते हैं या फिर उस कार से लोगों को ड्राइविंग प्रशिक्षण देते हैं या फिर आप लोगों की ट्रांसपोर्टेशन का काम करते हैं तो आपको कार की खरीद पर इनपुट टैक्स क्रैडिट मिलेगा। आप लोहा व्यापारी हैं, आप कार को इन कामों में इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं, इसलिए कार की खरीद का इनपुट टैक्स क्रेडिट नहीं मिलेगा।

? मैं कपड़े का व्यापारी हूं। मैंने 25 जून को बाजार से कपड़ा खरीदा था। मैंने उसकी पेमेंट अभी तक नहीं की है। क्या मुझे उस खरीद का इनपुट टैक्स क्रेडिट नहीं मिलेगा? -विशाल बांसल, कारोबारी, लुधियाना।

{आप अपने सप्लायर से कोई माल खरीदते हैं तो माल खरीदने के तुरंत बाद उसका इनपुट टैक्स क्रेडिट मिल जाता है। बिल की पेमेंट 180 दिनों में करनी होती है। यदि आप 180 दिनों के भीतर उस माल की पेमेंट नहीं देते हो तो आपको सीजीएसटी एक्ट की धारा 16 ( 2 ) की दूसरी प्रोविजो के तहत इनपुट टैक्स क्रेडिट को रिवर्स करना होता है और उस पर लिया इनपुट टैक्स क्रेडिट ब्याज समेत जमा करवाना होता है। आप उस इनपुट टैक्स क्रेडिट को दोबारा से अवेल कर सकते हैं। जब आप उस इनवॉइस की पेमेंट सप्लायर को कर देंगे तब आपको धारा 16 (2) की तीसरी प्रोविजो के तहत उसका इनपुट टैक्स क्रेडिट दोबारा से मिल जाएगा।

भास्कर जीएसटी गाइड

अप्रैल से जीएसटी रिटर्न के नियम बदल रहे हैं। ऐसे में दैनिक भास्कर में पढ़िए-‘जीएसटी गाइड: सवाल आपका, समाधान हमारा’। जीएसटी या रिटर्न से जुड़ी दिक्कतें हमें बताएं, हमारे एक्सपर्ट देंगे जवाब। हर रविवार इस कॉलम में...

सीए सुमीर गुप्ता मेंबर, इनडायरेक्ट टैक्सेस कंसल्टेंट्स एसोसिएशन व डिस्ट्रिक्ट टेक्सेशन बार एसोसिएशन


}हमें बताएं: जीएसटी की उलझन है या रिटर्न फाइलिंग से जुड़ा सवाल, हमें बताएं-8770590208 पर व्हाट्सएप या [email protected] पर मेल कीजिए। सवाल के साथ अपना और शहर का नाम जरूर लिखें। कारोबारी अपने सवाल भास्कर के फेसबुक पेज DainikBhaskarPunjab पर जाकर इनबॉक्स में मैसेज के जरिए भी पूछ सकते हैं। एक्सपर्ट के जवाब, सुझाव व समाधान इसी कॉलम के तहत प्रकाशित किए जाएंगे हर रविवार...।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना