--Advertisement--

क्राइम / चोरी हुई कार जिस भी टोल से निकली, फास्ट टैग मैसेज आता गया, पुलिस फिर भी पकड़ न सकी

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2019, 12:19 PM IST


zirakpur police can not track theft car even fastag message came owner phone
X
zirakpur police can not track theft car even fastag message came owner phone

  • बलटाना मार्केट से रात में चोरी हुई थी कार, फास्ट टैग का मैसेज मालिक के फोन पर आता रहा
     

जीरकपुर। ढकौली के रहने वाले अमित की 8 जनवरी की रात बलटाना मार्केट से कार चोरी हो गई थी। कार में फास्ट टैग स्टिकर लगा हुआ था, इसलिए कार जिस भी टोल प्लाजा से गुजरी तुरंत मालिक के मोबाइल पर मैसेज आया। गाड़ी कुल 6 टोल प्लाजा से गुजरी और हर बार मालिक ने पुलिस को इस बारे में बताया। लेकिन पुलिस ने न तो एफआईआर दर्ज की और न ही चोर को पकड़ने के लिए दूसरे पुलिस थानों से संपर्क किया।

 

नतीजन पिछले 5 दिन से चोर कार को लेकर घूम रहा है। टोल प्लाजा से मिले मैसेज के अनुसार यह कार 11 जनवरी से ट्राईसिटी में ही है, लेकिन पुलिस उसे तलाश नहीं कर पा रही है। फजीहत होते देख पुलिस ने अब जाकर मामले में केस दर्ज किया है। बलटाना चौकी इंचार्ज पिंदर सिंह का कहना है कि वे जल्द कार बरामद कर लेंगे।

 

मिठाई लेने गए थे, सेकेंड में चोरी हो गई कार
8 जनवरी की रात अमित के बेटे हर्ष ने मिठाई खाने की इच्छा जताई। अमित अपने बेटे व कजिन करण को साथ लेकर बलटाना की एक स्वीट शॉप में गए। हर्ष व करण मिठाई लेने गए और अमित कार स्टार्ट कर अंदर ही बैठे रहे। थोड़ी देर में अमित कार से उतरकर दुकान की तरफ गया और बेटे को कहा कि दो किलो मिठाई पैक करवा लो। इतने में एक युवक आया और कार स्टार्ट कर ले गया। पूरी वारदात 20 सेकेंड में हुई। अमित ने इसकी पुलिस को शिकायत की।

 

ऐसे हुआ पूरा घटनाक्रम

  • 8 जनवरी की रात बलटाना से कार चोरी हुई।
  • 9 जनवरी की रात निजरपुरा टोल प्लाजा (अमृतसर) से गाड़ी गुजरी।
  • 11 जनवरी की सुबह 3 बजकर 20 मिनट और 52 सेकेंड पर गाड़ी निजरपुरा टोल प्लाजा से फिर क्रॉस हुई।
  • सुबह 3 बजकर 44 मिनट और 28 सेकेंड पर गाड़ी डेहलों टोल प्लाजा से क्राॅस हुई।
  • सुबह 4 बजकर 52 मिनट और 56 सेकेंड पर गाड़ी लडोवाल टोल प्लाजा से गुजरी।
  • सुबह 6 बजकर 30 मिनट 45 सेकेंड पर शंभू बैरियर
  • सुबह 7 बजे अजीजपुर (जीरकपुर-बनूड़ रोड) स्थित से गाड़ी क्राॅस हुई।
  • 11 जनवरी के बाद कोई मैसेज नहीं आया, इसलिए माना जा रहा है कि कार ट्राईसिटी में ही है।

 

क्या है फास्ट टैग स्टिकर
कंपनियां कार के फ्रंट मिरर पर फास्ट टैग स्टिकर लगाती हैं। गाड़ी के फ्रंट शीशे पर स्टीकर लगा होता है। गाड़ी जिस भी टोल प्लाजा से गुजरेगी, उसको वहां पर टोल राशि नहीं देनी होगी और न ही लाइन में लगना होगा। वहां के अकाउंट में कार मालिक के अकाउंट से टोल की राशि ट्रांसफर हो जाएगी। जब कार मालिक के अकाउंट से पैसे निकलेंगे तो मालिक के मोबाइल पर पैसे डिटेक्ट होने का मैसेज आएगा। इसमें लिखा होगा कि किस टोल से गाड़ी गुजरी है। 

Astrology
Click to listen..