Home | Punjab | Mahilpur | सरकारी स्कूल की बिजली 3 दिनों से बंद, जेनरेटर में रोजाना 900 रुपए का डीजल डाल 500 बच्चों को पढ़ा रहे अध्यापक

सरकारी स्कूल की बिजली 3 दिनों से बंद, जेनरेटर में रोजाना 900 रुपए का डीजल डाल 500 बच्चों को पढ़ा रहे अध्यापक

भास्कर संवाददाता | माहिलपुर माहिलपुर के सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल लड़के में पिछले तीन दिनों से बिजली सप्लाई...

Bhaskar News Network| Last Modified - Jul 21, 2018, 02:35 AM IST

सरकारी स्कूल की बिजली 3 दिनों से बंद, जेनरेटर में रोजाना 900 रुपए का डीजल डाल 500 बच्चों को पढ़ा रहे अध्यापक
सरकारी स्कूल की बिजली 3 दिनों से बंद, जेनरेटर में रोजाना 900 रुपए का डीजल डाल 500 बच्चों को पढ़ा रहे अध्यापक
भास्कर संवाददाता | माहिलपुर

माहिलपुर के सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल लड़के में पिछले तीन दिनों से बिजली सप्लाई बंद होने के कारण विद्यार्थियों के साथ-साथ अध्यापक बी असुविधाजनक स्थित में फंसे हुए है। बिजली विभाग को शिकायतें दर्ज कराने के बाद भी अभी तक इस समस्या का कोई समाधान निकलता नजर नहीं आ रहा। सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल में 500 के करीब विद्यार्थी पढ़ रहे हैं।

स्कूल में कार्यरत अध्यापक अपनी जेब से पैसे खर्च कर जेनरेटर में डीजल डलवा कर काम चला रहे हैं। जेनरेटर चलाने के बावजूद आधे हिस्से में ही बिजली सप्लाई चल रही है। जिन कमरों में जेनरेटर से बिजली आती है सभी अध्यापक उन्हीं कमरों में क्लासेज लगाने की होड़ लगी हुई है। सरकारी स्कूल के अध्यापकों ने बिजली सप्लाई बंद होने के कारण उन्होंने पावर कॉरपोरेशन के कर्मचारियों के साथ साथ मुख्यालय पटियाला में भी शिकायत दर्ज करा चुके हैं इसके बावजूद बिजली की सप्लाई चालू नहीं की जा सकी। विद्यार्थियों ने बताया कि वह गर्मी से बचने के लिए वह अपनी किताब और कापी का पंखा बनाकर समय निकाल रहे हैं।

बिजली न होने के कारण बाहर मैदान में बैठे विद्यार्थी।

स्कूल की अंडरग्राउंड सप्लाई में कोई बाधा : जेई

बिजली विभाग के जेई रविन्द्र सिंह ने कहा कि स्कूल की अंडरग्राउंड सप्लाई में कोई बाधा उत्पन्न हो गई है जिसे ढूंढने का प्रयास किया जा रहा है। जल्द ही सप्लाई फिर से चालू कर दी जाएगी। सरकारी स्कूल का चार्ज संभाल रही सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल लड़कियों की प्रिंसिपल सतिंदरदीप कौर ढिल्लों ने कहा कि इस बाधा को सही करने के पच्चीस हजार रुपए का खर्च आएगा जो अपने पास से खर्च करना मुश्किल है। स्थिति की जानकारी उच्च अधिकारियों को दे दी गई है और जल्द ही समस्या का समाधान निकाल दिया जाएगा।

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |