Hindi News »Punjab »Malerkotla» मुहब्बत दिल में नफरत को कभी रहने नहीं देती... कलाम पेश किए

मुहब्बत दिल में नफरत को कभी रहने नहीं देती... कलाम पेश किए

भास्कर संवाददाता| मालेरकोटला पंजाब उर्दू अकादमी की ओर से निसाई अदब कल-आज-और-कल विषय पर राष्ट्रीय मुशायरे का...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 03, 2018, 02:40 AM IST

मुहब्बत दिल में नफरत को कभी रहने नहीं देती... कलाम पेश किए
भास्कर संवाददाता| मालेरकोटला

पंजाब उर्दू अकादमी की ओर से निसाई अदब कल-आज-और-कल विषय पर राष्ट्रीय मुशायरे का आयोजन किया गया। जिसमें देश के विभिन्न राज्यों से आए शायरों ने अपने कलाम से दर्शकों को मनोरंजन किया। पंजाबी उर्दू अकादमी की सचिव डॉ. रूबीना शबनम ने बताया कि मुशायरे में शायरों ने देश के बटवारे से पहले व आज के समय के मालेरकोटला पर अपने कलाम पेश किए।

मुशायरे की शुरूआत सबीहा संभल ने कसीदे पढ़कर की गई। इस मौके पर शायरों की ओर से सारे अपनों की शरारत है तबाही में मेरी, आप किस किस को ये इलजाम ए तबाही देंगे, क्या जाने कब उतरने लगे वो दिमाग पर, कोई जनऊ का वक्त मुकर नहीं हुआ, मुहब्बत दिल में नफरत को कभी रहने नहीं देती, ये वो शह है जो किसी शह की कमी रहने नहीं देती आदि कलाम पेश किए गए। इस मौके पर डॉ. निगार अजीम, चश्मा फारूकी, डॉ. निकहत फारूक नजर, अंजुम बिहार शमसी, कमर कदीर, रजिया हैदर खान, साजिया उमैर, सयद बशीर उल हसन, वफा नकवी, सुभाष गुप्ता, शफीक, मोहसीन उसमानी, शबनम ईसाई, सफीना आदि उपस्थित थे। (जमाली)

मालेरकोटला में मुशयरे के दौरान अपने कलाम पेश करते शायर।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Malerkotla

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×