• Hindi News
  • Punjab News
  • Moga News
  • साहित्य समागम में राकेश तेजपाल और प्रताप गिल की शायरी ने बटोरीं दर्शकों की वाहवाही
--Advertisement--

साहित्य समागम में राकेश तेजपाल और प्रताप गिल की शायरी ने बटोरीं दर्शकों की वाहवाही

लोक साहित्य अकादमी की ओर से साहित्यकार व चिंतक जगरूप सिंह गिल की दो धार्मिक पुस्तकों का लोकार्पण करने के लिए...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:40 AM IST
साहित्य समागम में राकेश तेजपाल और प्रताप गिल की शायरी ने बटोरीं दर्शकों की वाहवाही
लोक साहित्य अकादमी की ओर से साहित्यकार व चिंतक जगरूप सिंह गिल की दो धार्मिक पुस्तकों का लोकार्पण करने के लिए साहित्य समागम करवाया गया। समागम की अध्यक्षता उपन्यासकार बलदेव सिंह सड़कनामा, केएल गर्ग, ट्रेड यूनियन नेता व उपन्यासकार बलदेव सिंह सहदेव, लोक साहित्य अकादमी के प्रधान डॉ. सुरजीत बराड़, जिला शिक्षा अफसर (सेकेंडरी) गुरदर्शन सिंह बराड़, जिला शिक्षा अफसर जसपाल सिंह औलख व चेतना प्रकाशन के मैनेजिंग डायरेक्टर व प्रसिद्ध शायर सतीश गुलाटी ने की। समागम की शुरूआत शायर प्रीत जग्गी के भावपूर्ण कलाम से हुई। लुधियाना से आए शायर राकेश तेजपाल जॉनी व प्रताप गिल की शायरी ने माहौल को साहित्यक रंग में रंग दिया। मुदकी से आए जगतार सिंह सोखी ने जगरूप सिंह गिल द्वारा किए गए अनुवाद कार्य के बारे में विचार पेश किए। अंतर्राष्ट्रीय लेखक बलदेव सिंह व गुरचरन सिंह संघा ने कहा कि अनुवाद के द्वारा ही महान रचनाओं व विचारधाराएं दुनिया के कोने-कोने में पहुंचाई जा सकती है। जगरूप सिंह ने अनुवाद व टीका का किया कार्य विदेशों में रहती पंजाबियों की तीसरी पीढ़ी को गुरुओं की विचारधारा से जोड़ने के लिए पुल का काम करेगा। इस मौके पर गुरमेल सिंह ने हरतेज कौर सिद्धू के रचित काव्य पुस्तक पन्ने जिंदगी दे के बारे में जानकारी दी। अकादमी ने जगरूप सिंह व जगतार सिंह को उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया। इस अवसर पर दिलबाग बुक्कनवाला, गुरमेल बौडे, गुरदेव सिंह, दर्शन सिंह, दीप जैलदान ने अपनी रचनाएं सुनाई। इस दौरान बिक्कर सिंह, रविकांत शुक्ला, रणजीत सरांवाली, बहादर डालवी, गुरबचन सिंह, राजविंदर रौंता, जसविंदर रत्तियां,प्रदीप, गुरदीप सिंह, रुपिंदर सिंह, महिंदरपाल, हरनेक सिंह, हरनेक सिंह रोडे, गौरव शर्मा, प्रकाश कौर, चमकौर सिंह, परमिंदर सिंह, अमनदीप कौर उपस्थित थे।

मोगा में आयोजित साहित्य समागम में साहित्यकार जगरूप सिंह गिल की पुस्तकों का लोकार्पण करते साहित्यकार।

X
साहित्य समागम में राकेश तेजपाल और प्रताप गिल की शायरी ने बटोरीं दर्शकों की वाहवाही

Recommended

Click to listen..