Hindi News »Punjab »Moga» मोगा के लोगों को इस बार स्मार्ट सिटी प्लान बनने और अमृत योजना की ग्रांट मिलने की उम्मीद

मोगा के लोगों को इस बार स्मार्ट सिटी प्लान बनने और अमृत योजना की ग्रांट मिलने की उम्मीद

आज के केंद्रीय बजट में मोगा के लोगों को स्मार्ट सिटी प्लान के सिरे लगने की उम्मीद है। पिछले 3 सालों से अकाली-भाजपा...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 02:45 AM IST

आज के केंद्रीय बजट में मोगा के लोगों को स्मार्ट सिटी प्लान के सिरे लगने की उम्मीद है।

पिछले 3 सालों से अकाली-भाजपा सरकार के कार्यकाल दौरान केंद्र सरकार ने मोगा को स्मार्ट सिटी बनाने की घोषणा कर चुकी है और कई बार इसको स्मार्ट सिटी बनाने के लिए प्लान के लिए भी बातें उठती रहीं परंतु इस बार मोदी सरकार के बजट में मोगा स्मार्ट सिटी के प्लान बनने की उम्मीद बंधी है।

इसके लिए पंजाब सरकार के निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने भी कमर कस ली है। उन्होंने केंद्रीय बजट से पहले राज्य की अन्य स्मार्ट सिटी के साथ मोगा के प्लान को भी शामिल किया है। हालांकि मोदी सरकार के गठन के समय से ही मोगा नगर निगम को अमृत योजना में शामिल किया गया था परंतु केंद्र सरकार की शर्तों के चलते इस योजना के तहत भी अभी तक निगम को ग्रांट नसीब नहीं हुई। अब केंद्र सरकार के अंतिम बजट में इस ग्रांट के रिलीज होने की उम्मीद बनी है। वहीं, इस बार मोगा निवासियों को अमृत योजना पर अमल होने की उम्मीद है।

केंद्र से निराश भावना के कारण सांसद ने नहीं उठाई मोगा के लिए कोई मांग

ज्यादातर लोगों का कहना था कि सांसद आम आदमी पार्टी से है और विधायक कांग्रेस से है ऐसे में केंद्र की एडीए सरकार से ज्यादा उम्मीद नहीं लगाई जा सकती। परंतु आने वाले लोक सभा चुनाव लोगों की नाउम्मीदी में भी उम्मीद जगा रहे हैं। इस संबंधी जब आप सांसद प्रो. साधू सिंह से पूछा कि इस बार फरीदकोट संसदीय हलके के मोगा क्षेत्र के लिए बजट में किसकी संभावना है तो उन्होंने कहा कि एनडीए सरकार से उनको जन कल्याण की कोई उम्मीद नहीं है। वो बड़े-बड़े वादे तो करेंगे परंतु जो फायदा आम लोगों तक पहुंचे वैसा वो कुछ करेंगे नहीं। इसलिए उन्होंने संसद में कोई नई मांग नहीं रखी।

स्मार्ट सिटी का प्लान बना तो क्या होगा

इस मिशन में शहरों के मार्गदर्शन करने के लिए कुछ पारिभाषिक सीमाएं बनी हैं। भारत में किसी भी शहर निवासी की कल्पना में स्मार्ट शहर तस्वीर में ऐसी अवसंरचना एवं सेवाओं की सूची होती है जो उसकी आकांक्षा के स्तर को वर्णित करती है। नागरिकों की आकांक्षाओं और जरूरतों को पूरा करने के लिए शहरी योजनाकार को लक्ष्य आदर्श तौर पर पूरे शहरी का इस प्रकार विकास करना होता है, जो व्यापक विकास के चार स्तंभों-संस्थागत, भौतिक, सामाजिक और आर्थिक अवसंरचना में दिखाई देता है।

यह है अमृत योजना

कस्बों का कायाकल्प करने वाली इस परियोजना का हर क्षेत्र में नियमित रूप से ऑडिट किया जाएगा।

बिजली का बिल, पानी का बिल, हाउस टैक्स आदि सभी सुविधाएं ई-गवर्नेन्स के माध्यम से सुनिश्चित की जाएंगी।

जो राज्य बेहतर ढंग से इस परियोजना को आगे बढ़ाएंगे उनके लिये बजट में 10 प्रतिशत तक का आवंटन किया जाएगा।

यह उसी कस्बे में लागू होगी, जहां की जनसंख्या एक लाख से ज्यादा है।

जिन राज्यों की सरकारें इसे अच्छे ढंग से आगे बढ़ाएंगी उनके लिए बजट आवंटन भी बढ़ा दिया जाएगा।

अमृत के अंतर्गत वह परियोजनाएं भी आएंगी, जो पहले अधूरी रह गईं।

रेलवे लाइन के दोहरीकरण का काम शुरू होने की उम्मीद

अंग्रेज शासन काल में बना मोगा का रेलवे स्टेशन अब जंक्शन बनने इंतजार में तो है ही, लेकिन पिछले 112 वर्षों से फिरोजपुर से लुधियाना वाया मोगा सिंगल लाइन ही बिछी हुई है, जिस कारण आने-जाने वाली ट्रेनों का अकसर कुछ स्टेशनों पर क्रास कराते समय कुछ ट्रेनों को काफी समय रोकना पड़ता है। ऐसे में इंतजार के चलते ज्यादा समय बर्बाद होता है। 2016 को रेलवे विभाग ने सर्वे कर दोहरी लाइन बिछाने की कवायद शुरू की थी, जो फंडों की कमी के चलते अभी तक अधर में लटकी हुई है। इस बार बजट में इसको शामिल किए जाने की उम्मीद है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Moga

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×