जयदीप ने पराली न जलाकर मिट्टी की सेहत सुधारी

Moga News - गांव सद्दा सिंह वाला का आधुनिक सोच के किसान जयदीप सिंह जिले का पहला ऐसा किसान बन गया है, जिसने साल 2006 से जब पराली...

Bhaskar News Network

Oct 12, 2019, 08:35 AM IST
Moga News - jaideep improved soil health by not burning stubble
गांव सद्दा सिंह वाला का आधुनिक सोच के किसान जयदीप सिंह जिले का पहला ऐसा किसान बन गया है, जिसने साल 2006 से जब पराली जलाने पर कोई खास पाबंदी नहीं थी, धान की पराली को खेत में ही दबा कर इसके प्रबंधन करता आ रहा है। जयदीप सिंह जो कि 40 एकड़ से ज्यादा रकबे में धान व गेहूं की काश्त करता है ने मिट्टी की सेहत को सुधारने के लिए पराली जलाने की प्रक्रिया को बंद किया था। जयदीप के मुताबिक उस समय मिट्टी की पीएच वेल्यू 9.9 थी। जबकि जैविक पदार्थ भी बहुत ही कम मात्रा में थी।

जानकारी के मुताबिक मिट्टी की पीएच वैल्यू में तेजाब व खारापन का एक माप है और 7.5 से 8.5 के बीच मिट्टी की पीएच वैल्यू को फसलों के लिए अनुकुल माना जाता है। खेतीबाड़ी माहिर द्वारा उनको बताया गया कि उनके खेत की मिट्टी की सेहत फसलों के लिए बहुत अनुकूल नहीं है और उसको धान की पराली को मिट्टी में ही दबाने की सलाह दी गई। उन्होंने 2006 से धान की पराली को खेत में ही दबाना शुरू कर दिया। इसका नतीजा दो सालों बाद शानदार था। उनके खेत की मिट्टी की पीएच वेल्यू 8.2 हो गई है जबकि जैविक पदार्थ भी बढ़कर 75 हो गए हैं। उसकी खेती वाली जमीन की मिट्टी में अब अतिरिक्त पौष्टिक तत्व मौजूद है। इसने यूरिया की खुराक की मात्रा को भी कमकर आधा कर दिया है। जयदीप को कई बार जिला स्तर पर पराली न जलाने के लिए सम्मानित भी किया जा चुका है। 10 अक्टूबर को किसान सिखलाई कैंप के दौरान भी किसान को डिप्टी कमिशनर संदीप हंस ने सम्मानित किया। मुख्य खेतीबाड़ी अफसर डाॅ. बलविंदर सिंह ने कहा कि पंजाब खेतीबाड़ी विभाग किसानों को भारी सब्सिडिज के साथ खेती मशीन, खेत के उपकरण भी प्रदान कर रहा है। खेतीबाड़ी विकास अफसर डाॅ. बलविंदर सिंह ने भी किसानों से अपील की कि वह पराली जलाने को खत्म करने के लिए सब्सिडी वाली खेती मशीनरी का ज्यादा से ज्यादा प्रयोग करें।

किसान जयदीप सिंह को सम्मानित करते डीसी संदीप हंस।

X
Moga News - jaideep improved soil health by not burning stubble
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना