--Advertisement--

सूचना अधिकार संबंधी जागरूकता प्रोग्राम करवाया

सूचना के अधिकार संबंधी विद्यार्थियों तथा अध्यापकों को जानकारी देने के लिए महात्मा गांधी राज्य लोक प्रशासन...

Dainik Bhaskar

May 03, 2018, 02:45 AM IST
सूचना अधिकार संबंधी जागरूकता प्रोग्राम करवाया
सूचना के अधिकार संबंधी विद्यार्थियों तथा अध्यापकों को जानकारी देने के लिए महात्मा गांधी राज्य लोक प्रशासन संस्था पंजाब (मैगसीपा) की ओर से जिला इंस्टीट्यूट आफ एजूकेशन एंड ट्रेनिंग (डाइट) में बुधवार को एक दिवसीय जागरूकता प्रोग्राम आयोजित किया गया। इसमें उनको सूचना के अधिकार एक्ट-2005 के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई।

इस अवसर पर मैगसीपा के कोर्स डायरेक्टर (आरटीआई) कम-रीजनल सेंटर बठिंडा जरनैल ने बताया कि प्रशासन के कार्यों में पारदर्शिता तथा जवाबदेही लाने के लिए सूचना का अधिकार एक्ट बहुत अहम भूमिका निभा रहा है।

उन्होंने कहा कि इस एक्ट के माध्यम से कोई भी व्यक्ति किसी भी किस्म की सूचना प्राप्त करने का हकदार है। उन्होंने कहा कि यदि किसी भी व्यक्ति को यह लगता है कि उसके काम के प्रति लापरवाही हो रही है, तो वह इस एक्ट के माध्यम से उसकी जानकारी प्राप्त कर सकता है। उन्होंने कहा कि इस एक्ट के माध्यम से पढ़ा-लिखा या अनपढ़ कोई भी व्यक्ति जानकारी प्राप्त कर सकता है। उन्होंने कहा कि यदि हम अपने-अपने विभाग का पूरा रिकार्ड सही तरीके से मेनटेन रखते हैं, तो सूचना देने समय किसी किस्म की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

इस अवसर पर सेमिनार में भाग लेने वाले विद्यार्थियों को सर्टिफिकेट भी वितरित किए गए। मैगसीपा के जिला रिसोर्स पर्सन हरमिन्द्र सिंह तथा प्रोजेक्ट कोऑर्डिनेटर मनदीप सिंह ने कहा कि सबसे जरूरी है कि लोग इस एक्ट के प्रति जागरूकता हो। इस अवसर पर डाइट प्रिंसीपल सुखचैन सिंह हीरा, अध्यापक तथा विद्यार्थी हाजिर थे।

किसान देरी से पकने वाली धान की किस्म पूसा-44 व डोगर को बीजने से गुरेज करें : किट्टा

बैठक के दौरान आढ़ती एसोसिएशन के प्रधान व सदस्य।

अजीतवाल | पंजाब सरकार द्वारा धान की बिजाई देरी से 20 जून को करने की घोषणा के मद्देनजर किसान देरी से पकने वाली धान की किस्में पूसा 44 व डोगर की बिजाई न करें। इसमें नमी की मात्रा भी ज्यादा रहती है, जिस कारण बिकने में दिक्कतें आती हैं। यह बात आढ़ती एसोसिएशन अजीतवाल के अध्यक्ष डाॅ. राकेश कुमार किट्टा ने बैठक को संबोधित करने के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए कही। उन्होंने कहा कि धान की फसल के पकने के समय अखरी 15 दिन पानी न लगाएं। इस समय आढ़ती रणजीत कुमार चावला, हरदीप लाली, संदीप कुमार, स्वर्णजीत सहगल, धर्मपाल, हंसराज, बलजिंदर सिंह आदि उपस्थित थे।

X
सूचना अधिकार संबंधी जागरूकता प्रोग्राम करवाया
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..