Hindi News »Punjab »Moga» अनुकूल मौसम के चलते तेज हुई गेहूं की आमद लिफ्टिंग की सुस्त चाल से मंडियों में लगे ढेर

अनुकूल मौसम के चलते तेज हुई गेहूं की आमद लिफ्टिंग की सुस्त चाल से मंडियों में लगे ढेर

अनुकूल मौसम के चलते मंडियों में गेहूं की आमद में आई तेजी व लिफ्टिंग की धीमी रफ्तार के चलते मंडियों में लग रहे गेहूं...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 03:50 AM IST

अनुकूल मौसम के चलते मंडियों में गेहूं की आमद में आई तेजी व लिफ्टिंग की धीमी रफ्तार के चलते मंडियों में लग रहे गेहूं के अंबार आने वाले दिनों में किसान व प्रशासन के लिए परेशानी पैदा कर सकते हैं। मार्केट कमेटी कोटकपूरा के अधीन आती करीब 15 ग्रामीण मंडियों व कोटकपूरा के मुख्य यार्ड में आई अब तक की कुल गेहूं में से सरकारी खरीद एजेंसियों द्वारा खरीदी गेहूं का मात्र पांच प्रतिशत की ही लिफ्टिंग ही सकी है। जबकि करीब 95 प्रतिशत खरीदी हुई गेहूं अभी तक मंडियों में पड़ी लिफ्टिंग का इंतजार कर रही है। जबकि सरकारी अनुमान के अनुसार आने वाले दिनों में गेहूं की आमद व खरीद और बढ़ने की संभावना है व ऐसे में लिफ्टिंग की धीमी से रफ्तार खरीद प्रबंधों का गणित और भी गड़बड़ा सकता है।

बेशक सरकार के अधिकारी व प्रशासन पिछले करीब एक महीने से मंडियों में खरीद व्यवस्था के चाक चौबंद होने के दावे कर रहा है लेकिन खरीद प्रक्रिया के शुरूआती दौर में व्यवस्था कही दूर तक नजर नहीं आ रही है। करीब दो सप्ताह से शुरू हुई खरीद प्रक्रिया के तहत आज शाम तक मार्केट कमेटी कोटकपूरा के अधीन आती मंडियों में से करीब 26315 टन गेहूं की आमद हो चुकी है। जिसमें से 15420 टन गेहूं की खरीद अब तक हो चुकी है। लेकिन सभी अनाज मंडियों से में अब तक मात्र 750 टन गेहूं की लिफ्टिंग कोटकपूरा की मुख्य अनाज मंडी से ही हुई है जबकि बाकी की मंडियों में एक भी दाने की ना तो खरीद व ना ही लिफ्टिंग अब तक हुई है।

गेहूं की सबसे अधिक आमद कोटकपूरा के मुख्य यार्ड में कुल 19 हजार टन की हुई है। इसमें कुल 15420 टन की खरीद पांच खरीद एजेंसियों व निजी खरीददारों द्वारा की जा चुकी है। इसमें से 4670 टन गेहूं की खरीद पनग्रेन द्वारा, 25 सौ टन मार्कफेड द्वारा, पांच हजार टन पनसप द्वारा, 15 सौ टन पंजाब वेयर हाउस द्वारा व 1750 टन गेहूं की खरीद पंजाब एग्रो द्वारा की गई है। जबकि इस खरीदी गई गेहूं में से मात्र पनसप द्वारा खरीदी गई गेहूं में से 750 टन की लिफ्टिंग करवा सकी है जबकि और किसी खरीद एजेंसी ने अब तक एक भी दाना मंडी से उठाकर गोदाम तक नहीं पहुंचाया है।

बहबल कलां में अभी तक गेहूं की आमद शुरू नहीं हुई।

कोटकपूरा में गेहूं की बोली के इंतजार में बैचेन एक किसान ।

किसान अडानी ग्रुप को गेहूं बेचने को दे रहे तरजीह

मोगा| गेहूं का सीजन शुरू हो गया है लेकिन एशिया की दूसरी सबसे बड़ी मंडी में इस बार किसानों द्वारा गेहूं की फसल न लाकर सीधा गांव डगरु के पास बने अडानी ग्रुप में ले जाई जा रही है।

व्यापारी बोले: लेबर के कारण नहीं हो सकी लिफ्टिंग

संपर्क करने पर मंडी के व्यापारी संजय मित्तल ने बताया कि इससे पहले मौसम में नमी के चलते गेहूं की आमद भी कम थी लेकिन अब दो-तीन दिन से एकदम से शुष्क व गर्म मौसम के चलते गेहूं की आमद में काफी बढ़ोतरी हुई है। उन्‍होंने बताया कि प्रशासन द्वारा आल लिफ्टिंग के लिए काफी संख्या में वाहन उपलब्ध करवाए गए लेकिन लेबर की समस्या के चलते लोडिंग नहीं हो सकी। उन्‍होंने बताया कि मंडियों में बारदाना पर्याप्त मात्रा में पहुंच रहा है व लेबर की समस्या भी एक दो दिन में हल हो जाएगी।

शुरूआत के दिनों में ऐसी समस्या आती है : सचिव संदीप

मार्केट कमेटी कोटकपूरा के सचिव संदीप गोदारा ने बताया कि आमद की शुरूआत के दिनों में ऐसी समस्या सामान्य है लेकिन वह खुद सारी व्यवस्था पर पुरी तरह से नजर जमाए हुए हैं। उनकी कोशिश रहेगी कि किसान व व्यापारी को किसी तरह की परेशानी ना आए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Moga

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×