हत्यारोपियों के खिलाफ एससी-एसटी एक्ट की धारा जोड़ी Rs.8 लाख मुआवजे का एलान, पुलिस सुरक्षा में अंतिम संस्कार

Moga News - शादी समारोह से एक रात पहले डीजे पर नाच रहे दूल्हे के परिजनों, दोस्तों व रिश्तेदारों द्वारा चलाई जा रही ताबड़तोड़...

Dec 04, 2019, 08:40 AM IST
Moga News - section 8 of sc st act against murderers announced compensation of rs8 lakh funeral in police security
शादी समारोह से एक रात पहले डीजे पर नाच रहे दूल्हे के परिजनों, दोस्तों व रिश्तेदारों द्वारा चलाई जा रही ताबड़तोड़ गोलियों के चलते डीजे संचालक कर्ण उर्फ गोरा की मौत हाेने के मामले को लेकर इंसाफ दिलवाने के लिए मंगलवार की सुबह दस बजे से कर्ण हत्या कांड विरोधी संघर्ष कमेटी व पीड़ित परिवार, रिश्तेदारों व दोस्तों की ओर कोटइसेखां के मुख्य चौक में तीन घंटे धरना लगाया गया। इस दौरान काफी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था। एसपीएच व नायब तहसीलदार द्वारा मौके पर जाकर धरना दे रहे जत्थेबंदियों के नेताओं व पीड़ित परिवार के साथ बातचीत कर मसले का हल निकाला गया। इसमें हत्यारोपियों के खिलाफ एससीएसटी एक्ट की धारा को जोड़ा गया। वहीं पीड़ित परिवार को 8 लाख रुपए की मुआवजा राशि का ऐलान किया गया। इस उपरांत धरना खत्म कर दिया गया। इससे पहले कस्बे में पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया था।

जानकारी के अनुसार कर्ण हत्या कांड विरोधी संघर्ष कमेटी के साथ करीब डेढ़ सौ लोगों ने मंगलवार को कोटइसेखां के मुख्य चौक पर सुबह दस बजे धरना देना शुरू कर दिया। इस दौरान उनके साथ मृत युवक के परिजन, रिश्तेदार, मोहल्ले के लोग शामिल थे। तीन घंटे तक चले धरने के दौरान जत्थेबंदी के नेताओं द्वारा सरकार, जिला व पुलिस प्रशासन पर जमकर भड़ास निकाली गई।

सरकारी नौकरी के लिए प्रशासन सरकार को भेजेगा सिफारिश

उधर मामले की गंभीरता को देखते हुए सुबह से ही कस्बे को पुलिस छावनी में तबदील कर दिया गया था। सुरक्षा की कमान खुद एसपीएच रतन सिंह बराड़ ने संभाल रखी थी। नायब तहसीलदार मनिंदर सिंह व एसपीएच ने जत्थेबंदी के नेताओं व पीड़ित परिवार से धरना स्थल पर जाकर बात की तथा उनको बताया कि कर्ण सिंह की हत्या में शामिल पांच आरोपियों सुखदीप सिंह निवासी धर्मसिंह वाला, मेजर सिंह निवासी मस्तेवाला, शरणप्रीत सिंह निवासी सैदशाह वाला, जगरूप सिंह निवासी अमरगढ़बाणियां व सुखचैन सिंह निवासी गांव मस्तेवाला के खिलाफ धारा हत्या, दहशत फैलाने, धमकाने, असला एक्ट के तहत केस दर्ज किया था। उसमें एससीएसटी की धारा की बढ़ोतरी कर दी गई है। साथ ही मृतक के परिवार को जिला प्रशासन की ओर से एससीएसटी एक्ट के तहत आठ लाख रुपए मुआवजा राशि का ऐलान किया गया। चार लाख रुपए मृतक के शव का संस्कार के बाद तथा चार लाख रुपए भोग पर देने का ऐलान किया गया। इसके अलावा एक्शन कमेटी की दूसरी मांग सरकारी नौकरी के लिए प्रशासन की ओर से सरकार को सिफारिश की जाएगी। इसके बाद कर्ण हत्या कांड विरोधी संघर्ष कमेटी ने धरना खत्म कर दिया।

कर्ण हत्याकांड विरोधी संघर्ष कमेटी व पीड़ित परिवार कोटइसेखां के मेन चौक में धरना देते हुए।

दो आरोपी गिरफ्तार, 7 तक रिमांड

पुलिस अधिकारी का कहना था कि पैलेसों व होटलों में शादी समारोह या अन्य किसी खुशी के मौके पर असला साथ रखने पर पाबंदी है। इसके लिए बाकायदा होटलों व मैरिज पैलेस को हिदायतें जारी कर रखी है। वहीं हत्यारोपियों के पास जितने में असला लाइसेंस व असले है, उनको रद करने के लिए डिप्टी कमिश्नर को सिफारिश भेजी जाएगी। वहीं पुलिस द्वारा आरोपियों सुखदीप सिंह, जगरूप सिंह को गिरफ्तार करने के उपरांत अदालत में पेश किया गया। जहां दोनों आरोपियों को सात दिसंबर तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया।

पोस्टमार्टम के बाद घर ले जाया गया शव, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल

उधर कर्ण (मृत) के परिजनों की सहमति के बाद मंगलवार की शाम को मोगा के सरकारी अस्पताल मेें शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया गया। पुलिस सुरक्षा में मृतक के शव का पोस्टमार्टम करवाया गया। उसके बाद कस्बे के श्मशान घाट में पुलिस सुरक्षा में संस्कार कर दिया गया। इससे पहले शव को पोस्टमार्टम के बाद घर ले जाया गया। जहां परिवार का रो-रो कर बुरा हाल हो रहा था।

सीसीटीवी फुटेज लीक करने पर पुलिस अधिकारी को लगी फटकार

पुलिस सूत्रों के हवाले से पता चला कि हल्का धर्मकोट के पुलिस अधिकारी द्वारा हत्यारोपियों के घर से कब्जे में ली गई सीसीटीवी फुटेज वाली डीवीआर से मोबाइल पर वीडियो बनाकर मीडिया में लीक करने के मामले में एसएसपी द्वारा पुलिस अधिकारी को जमकर फटकार लगाई गई है। एसएसपी उस पुलिस अधिकारी की इस हरकत से काफी खफा बताए जा रहे हैं। उनके द्वारा पहले थाना कोटइसेखां के पुलिस मुलाजिमों को फटकार लगाई गई थी। बाद में उन मुलाजिमों ने अधिकारी को बताया कि उनके द्वारा नहीं बल्कि सब डिवीजन के एक अधिकारी द्वारा सीसीटीवी फुटेज को लीक किया गया है।

इससे पहले गत दिवस विधायक द्वारा सरकारी अस्पताल में पहुंचकर धरने पर बात रखते समय कहा कि ऐसे हादसे होते रहते हैं, परिवार को पूरा इंसाफ दिया जाएगा, इस बात को लेकर नौजवान भारत सभा के सूबा सक्तर द्वारा विधायक के बहसबाजी होने के बाद लोग भड़क गए थे अाैर हमला कर दिया था। अब धर्मकोट के विधायक काका सुखजीत सिंह लोहगढ़ पर सोमवार को सरकारी अस्पताल में कर्ण हत्या कांड विरोधी संघर्ष कमेटी के सदस्यों द्वारा किए हमले के चलते थाना सिटी साउथ पुलिस द्वारा विधायक से सरकारी गाड़ी चालक सवरन सिंह के बयान पर नौजवान भारत सभा के कर्मजीत सिंह कोटकपूरा, पेंडू मजदूर यूनियन के जरनल सक्तर मंगा सिंह, जम्हूरियत अधिकार सभा के दर्शन सिंह तूर, लोक संग्राम मंच के तारा सिंह निवासी जीरा रोड मोगा के अलावा 70 से 80 अज्ञात हमलावरों के खिलाफ एफआईआर नंबर 256, 2 अक्तूबर 2019 को कातिलाना हमला, मारपीट, तोडफ़ोड़ करने के आरोप में केस दर्ज किया है। लेकिन पुलिस अधिकारी अभी इस दर्ज किए केस को गुप्त रखना चाहती है।

विधायक पर हमले के आरोप में 4 नेताओं समेत 80 लोगों पर केस

X
Moga News - section 8 of sc st act against murderers announced compensation of rs8 lakh funeral in police security
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना