• Hindi News
  • Punjab
  • Moga
  • दोस्तों ने रोका फिर भी कूद गए नहर में, दो बार ऊपर आए लेकिन फिर डूब गए

दोस्तों ने रोका फिर भी कूद गए नहर में, दो बार ऊपर आए लेकिन फिर डूब गए / दोस्तों ने रोका फिर भी कूद गए नहर में, दो बार ऊपर आए लेकिन फिर डूब गए

सिटी वन के एसएचओ समेत पुलिस पार्टी मौके पर पहुंची और बचाव कार्य में जुट गई।

dainikbhaskar.com

Aug 13, 2018, 10:50 AM IST
मोगा में दोस्तों के साथ नहर मे मोगा में दोस्तों के साथ नहर मे

मोगा। मोगा में रविवार को दो बच्चे बनहर में डूब गए। इनमें से एक की लाश देर शाम ही निकाल ली गई थी, जबकि दूसरे की तलाश सोमवार को दूसरे दिन भी जारी है। ये दोनों मोहल्ले के ही चार अन्य बच्चों के साथ नहर में नहाने गए थे। चार तो ज्यादा पानी होने के चलते डर गए और नहर के किनारे ही खड़े रहे। इनमें से दो को भी इन चारों ने रोका, लेकिन नहीं माने।

मोगा के बेदी नगर में रह रहे प्रवासी परिवार के बच्चे राहुल ने बताया कि रविवार कि दोपहर को उसने अपने बड़े भाई सोहल (10) के अलावा मोहल्ले के चार अन्य बच्चों करण, राजन, लवप्रीत व जेहान के साथ नहर में नहाने का प्लान बनाया। ये सभी एक टैंपो में बसवार हो गांव लौहारां को जाने वाली नहर के पुल पर पहुंचे।

नहर में पानी ज्यादा होने के चलते उसने और तीन अन्य लड़कों ने तो नहर में नहाने का विचार त्याग दिया, लेकिन उसका भाई सोहल व लवप्रीत सिंह नहाने की जिद करने लगे। कई बार मना करने के बाद भी वो दोनों नहीं माने और नहर में कूद गए।

बच्चों को बचाने की कोशिश में छोड़ दिया रेत से भरा ट्रैक्टर-ट्रॉली

राहुल ने बताया कि दो बार तो दोनों पानी के ऊपर आए, लेकिन फिर जब काफी देर तक नहीं दिखाई दिए तो उसने और उसके दोस्तों ने शोर मचाना शुरू कर दिया। इसी बीच वहां से गुजर रहे रेत से भरे ट्रैक्टर-ट्रॉली के ड्राइवर की नजर डूबते बच्चों पर पड़ी तो वह तुरंत नहर में कूद गया। हालांकि ट्रैक्टर ड्राइवर ने जल्दबाजी में ट्रैक्टर के हैंड-ब्रेक भी लगाए, लेकिन लोड होने की वजह से वह कुछ ही कदम आगे जाकर पलट गई।

पुलिस और समाजसेवी कमेटी ने करीब 5 घंटे बाद निकाली एक लाश

जब घटना की जानकारी मिलते ही सिटी वन के एसएचओ गुरप्रीत सिंह, एएसआई अमरजीत सिंह समेत हाईवे पैट्रोलिंग पार्टी मौके पर पहुंच बचाव कार्य में जुट गई। पुलिस ने पुली पर लकड़ी को बीच में बांध दिया, ताकि अगर बच्चे पानी में तैरते इधर आएं तो वह लकड़ी से टकराकर अटक जाएं। साथ ही बाबा दामूशाह लौहारा कमेटी के सदस्यों को हादसे की जानकारी मिली तो वो भी मौके पर पहुंचकर बच्चों को बचाने के प्रयास में जुट गए। आखिर कड़ी मेहनत के बाद दोपहर डेढ़ बजे के डूबे दो बच्चों में से सोहल काे करीब 6 बजे नहर से निकालकर अस्पताल पहुंचाया, लेेकिन वहां डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया।

सिटी वन के एसएचओ गुरप्रीत सिंह का कहना है कि नहर से एक बच्चे के शव को बाहर निकालकर सरकारी अस्पताल के पोस्टमाॅर्टम हाउस में रखवा दिया गया है, जबकि दूसरे बच्चे की तलाश जारी है।

X
मोगा में दोस्तों के साथ नहर मेमोगा में दोस्तों के साथ नहर मे
COMMENT