• Hindi News
  • Punjab
  • Moga
  • Moga News two pyre burnt together mother daughter on one husband wife funeral on the other

एक साथ जलीं दो चिताएं; एक पर मां-बेटी, दूसरी पर पति-पत्नी का हुआ अंतिम संस्कार

Moga News - घर के दामाद द्वारा घरेलू रंजिश व कारोबार में पैसों के लेन-देन के चलते अपने ससुराल परिवार के चार लोगों को अंधाधुंध...

Feb 18, 2020, 08:16 AM IST
Moga News - two pyre burnt together mother daughter on one husband wife funeral on the other

घर के दामाद द्वारा घरेलू रंजिश व कारोबार में पैसों के लेन-देन के चलते अपने ससुराल परिवार के चार लोगों को अंधाधुंध गोलियां मारकर हत्या करने के बाद सोमवार को हत्यारोपी की प|ी राजविंदर कौर, सास सुखविंदर कौर, साले जसकरण सिंह व सालेहार इंद्रजीत कौर के शवों का पोस्टमार्टम के बाद गांव सैद जलालपुर ने शाम 6.30 बजे अंतिम संस्कार किया गया। उनके अंतिम संस्कार के लिए केवल दो चिताएं ही सजाई गईं। एक पर मां-बेटी व दूसरी में पति-प|ी का अंतिम संस्कार किया गया। श्मशानघाट में बचे ससुर बोहड़ सिंह यही बोल रहा था-मेरा सब कुछ लुट गया। जब शव गांव पहुंचे तो रिश्तेदारों की चीखें सबको झकझोर रही थीं। परिवार के साथ-साथ रिश्तेदारों व गांव वासियों के आंसू भी रूकने का नाम नहीं ले रहे थे। माता-पिता की मौत के बाद तीनों मासूम बच्चे अनाथ हो गए हैं।

लोग दे रहे थे श्राप-हवलदार तेरा कुछ न बचे, ऐसी सजा मिले, कोई ऐसा करने से पहले सौ बार सोचे

सोमवार की शाम को पांच बजे चारों शव दो एंबुलेंसों के जरिए गांव सैद जलालपुर पहुंचे। घर के बाहर काफी लाेग इकट्ठे थे। शवों को देखकर चीख पुकार मच गई थी। इसके तुरंत बाद चारों शवों को गांव के श्मशान घाट ले जाया गया। जहां शाम को 6.30 बजे चारों शवाें का गांव के श्मशान घाट में संस्कार कर दिया गया। मृतक जसकरण सिंह व उसकी प|ी इदंरजीत कौर को इकट्ठे एक चिता पर लिटाकर उनको मुखाग्नि दी गई। जबकि मां सुखविंदर कौर व बेटी राजविंदर कौर को एक चिता में इकट्ठे लिटाकर उनको बेटे हरजिंदर सिंह ने मुखाग्नि दी। जिस समय चारों का श्मशान घाट में संस्कार किया जा रहा था, चारों ओर चीखपुकार मची हुई थी। वहीं मृतकों के रिश्तेदार आरोपी हवलदार को श्राप दे रहे थे, कि उसका कख न रहे, उसे ऐसी सजा मिलनी चाहिए की आगे से कोई दूसरा इंसान ऐसी वारदात करने से पहले सौ बार सोचे।

बच्ची रो-रोकर कहती : मुझे माता-पिता से मिला दो

हवलदार कुलविंदर सिंह की गोली लगने से घायल दस साल की जश्नप्रीत कौर को अस्पताल से छुट्टी तो परिवार ने सोमवार को दिलवा दी थी, लेकिन शाम तक उसे यह नहीं बताया गया था कि उसके माता-पिता की मौत हो चुकी है। क्योंकि कोई भी इतनी हिम्मत नहीं जुटा पा रहा था कि उस मासूम को बता दे कि अब उसके माता-पिता के अलावा दादी व बुआ इस दुनिया में नहीं रहे। बच्ची बार-बार कह रही थी थी मुझे मेरे माता-पिता से मिला दो।

सैद जलालपुर में हवलदार के प|ी, सास, साले व सालेहार को गोलियां मार हत्या करने का मामला

मां-बेटी की चिता को मुखाग्नि देता हरजिंदर सिंह।

मारे गए पति-प|ी की चिता को मुखाग्नि देते रिश्तेदार।

Moga News - two pyre burnt together mother daughter on one husband wife funeral on the other
X
Moga News - two pyre burnt together mother daughter on one husband wife funeral on the other
Moga News - two pyre burnt together mother daughter on one husband wife funeral on the other

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना