Hindi News »Punjab »Mukerian» किसानों की चेतावनी- गन्ने की पर्चियों का सोमवार तक हल नहीं हुआ तो संघर्ष

किसानों की चेतावनी- गन्ने की पर्चियों का सोमवार तक हल नहीं हुआ तो संघर्ष

भास्कर संवाददाता | मुकेरियां क्षेत्र के किसानों को गन्ने की पर्चियां न मिलने की समस्या को लेकर प्रदीप कटोच की...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 02:40 AM IST

भास्कर संवाददाता | मुकेरियां

क्षेत्र के किसानों को गन्ने की पर्चियां न मिलने की समस्या को लेकर प्रदीप कटोच की अध्यक्षता में प्राचीन शीतला माता मंदिर मुकेरियां में मीटिंग की गई। जिसमें क्षेत्र के किसान एकत्रित हुए।

बैठक में प्रदीप कटोच, संदीप मिन्हास, प्रमोद लक्की ने कहा कि अप्रैल शुरू हो रहा है और कुछ दिनों के बाद गेहूं की फसल की कटाई शुरू हो जाएगी पर अभी भी क्षेत्र में किसानों का काफी गन्ना खेतों में खड़ा है जोकि मई माह तक बड़ी मुश्किल से समाप्त होगा। गर्मी शुरू होने से गन्ने का भार भी कम हो रहा है व लेबर की समस्या भी बढ़ गई है। अब लेबर किसानों से मनमाने रेट मांग रही है। इस समय करीब 60 से 70 रुपए प्रति क्विंटल गन्ने की छिलाई के लेबर मांग रही है। उन्होंने मिल मैनेजमेंट पर आरोप लगाते हुए कहा कि क्षेत्र के किसानों को कम पर्चियां दी जा रही हैं जबकि बाहरी क्षेत्र के किसानों को अधिक दी जा रही हैं जबकि मिल से निकलने वाले प्रदूषण का संताप क्षेत्र के लोग झेल रहे हैं। किसानों ने चेतावनी दी कि अगर सोमवार तक पर्ची की समस्या हल नहीं हुई तो संघर्ष करेंगे। इस अवसर पर मास्टर सेवा सिंह, बलजिंदर राणा, शमशेर सिंह, सुरजीत सिंह जीतू, रोकी मिन्हास, जगदीश मिन्हास, सरपंच राजकुमार, बलवंत सिंह गिल, संतोख सिंह, अंजना कटोच, रघुनाथ राणा, राजीव शर्मा, रणवीर सिंह, ज्योति प्रकाश, सृष्टा देवी शिव कुमार उपस्थित थे।

मिल के जीएम संजय सिंह ने किसानों को भरोसा दिलाया कि शुगर मिल मई तक चलेगी और क्षेत्र का पूरा गन्ना पिराई के बाद ही बंद होगी। उन्होंने कहा कि भोगपुर व पनियाड़ से सरकार ने उन्हें गन्ना अलॉट किया है। बाहरी क्षेत्र को गन्ने की पर्ची नहीं दी जा रही। सात दिन के भीतर दोबारा से गन्ने का सर्वे करवाया जाएगा। जिनका गन्ना खत्म हो चुका है उनकी पर्ची कैंसिल कर गन्ने वाले किसानों को पर्चियां दी जाएंगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mukerian

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×