Hindi News »Punjab »Mukerian» अगर गेहूं को डीएपी की पूरी मात्रा डाली हो तो धान के लिए कोई आवश्यकता नहीं : डॉ. हरतरनपाल

अगर गेहूं को डीएपी की पूरी मात्रा डाली हो तो धान के लिए कोई आवश्यकता नहीं : डॉ. हरतरनपाल

भास्कर संवाददाता | मुकेरियां गांव बागोवाल में ब्लाक कृषि अधिकारी मुकेरियां डॉ. हरतरनपाल सिंह की अध्यक्षता में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 23, 2018, 02:35 AM IST

अगर गेहूं को डीएपी की पूरी मात्रा डाली हो तो धान के लिए कोई आवश्यकता नहीं : डॉ. हरतरनपाल
भास्कर संवाददाता | मुकेरियां

गांव बागोवाल में ब्लाक कृषि अधिकारी मुकेरियां डॉ. हरतरनपाल सिंह की अध्यक्षता में किसान सिखलाई कैंप का आयोजन किया गया। इसमें किसानों को सही मात्रा में तथा आवश्यकता पड़ने पर खाद व दवाइयों के प्रयोग करने संबंधी जागरूक किया गया। डॉ. हरतरनपाल सिंह ने किसानों को अपील की कि वह विभाग द्वारा सिफारिश की खाद व दवाइयों का ही प्रयोग करें। अगर गेहूं की फसल में डीएपी की पूरी मात्रा डाली गई हो तो उस खेत में धान की फसल को डीएपी खाद की कोई आवश्यकता नहीं होती। उन्होंने कहा कि पीएयू की सिफारिशों के अनुसार एक एकड़ खेत में 90 किलो यूरिया तीन किस्तों में डाली जाए, जिसमें से एक हिस्सा कद्दू करने से पहले तथा बाकी दो हिस्से तीन से 6 सप्ताह के बाद डालनी चाहिए। इस समय कृषि विकास अधिकारी कंवलदीप सिंह एवं डॉ. गगनदीप सिंह ने कहा कि भूमि की उपजाऊ शक्ति को सही रखने के लिए हरी खाद की बिजाई करनी चाहिए तथा पशुओं की देसी रूड़ी अपने खेत में अवश्य डालनी चाहिए। उन्होंने धान की फसल पर होने वाले कीड़े मकोड़ों के हमले तथा बीमारियों की रोकथाम बारे भी जानकारी दी। अंत में बागोवाल कोऑपरेटिव सोसायटी के सचिव सुखविंदर सिंह ने कृषि अधिकारियों व किसानों का धन्यवाद किया।

कैंप के दौरान जानकारी देते डॉ. हरतरनपाल सिंह साथ में अन्य।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mukerian

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×