Hindi News »Punjab »Mukerian» 10 साल बाद बारिश से ऐसा सैलाब

10 साल बाद बारिश से ऐसा सैलाब

वीरवार को सुबह 6 बजे गली में पानी आया। पानी की रफ्तार इतनी अधिक थी कि इसमें कई पशु भी बह गए। पानी लोगों के घरों और...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 27, 2018, 02:55 AM IST

  • 10 साल बाद बारिश से ऐसा सैलाब
    +2और स्लाइड देखें
    वीरवार को सुबह 6 बजे गली में पानी आया। पानी की रफ्तार इतनी अधिक थी कि इसमें कई पशु भी बह गए। पानी लोगों के घरों और दुकानों में भी घुस गया।

    गली के सामने रोड पर लगा टाइलों का ढेर

    घंटों ट्रैफिक रहा बाधित| पानी के सैलाब के कारण टाइलें और मलबा बहकर तलवाड़ा-मुकेरियां रोड पर जमा हो गई। इस कारण रोड पर ट्रैफिक बाधित हो गया। पानी निकलने के बाद लोगों ने टाइलें एक तरफ करके रास्ता साफ किया।

    2008 में भी आ चुका है सैलाब| स्थानीय लोगों ने बताया कि इससे पहले 2008 में तेज सैलाब आया था। पानी का तेज बहाव पांच दिन 21 जुलाई को भी आया था। 21 जुलाई को मोहल्ला के लोगों के 6 बाइक, दो टेंपू और पशु तक बह गए थे।

    5 दिन पहले इसी तरह 6 बाइक, दो टेंपू और पशु बह गए थे

    तलवाड़ा टाउनशिप | तलवाड़ा में वीरवार को मोहल्ला सांडपुर नंबर-3 में सुबह 6 बजे जंगल की तरफ से पानी का सैलाब आया, जिसने 500 फीट लंबी गली के 450 फीट हिस्से की इंटरलॉकिंग को उखाड़ते हुए बहा ले गया। साला मलबा तलवाड़ा-मुकेरियां रोड पर जमा हो गया। बहाव इतना तेज था कि गाड़ी भी बह जाती। अचानक पानी की भारी मात्रा से इलाके में बाढ़ जैसे हालात बन गए। लोगों के घरों और दुकानों में पानी घुस गया। कोई जानी नुकसान नहीं हुआ। लोगों ने बताया कि जंगल में तड़के बारिश हो रही थी।

    आखिरी छोर तक बह गई गली

    करीब 500 फीट लंबी गली में 450 फीट तक की टाइलें उखड़ गई हैं। गली की शुरुआत से करीब 50 फीट छोड़कर आखिरी छोेर तक टाइलें बह कर आगे तलवाड़ा-मुकेरियां रोड पर जमा हो गई।

    जंगल में आगजनी से कम हुई पेड़ों की संख्या बड़ा कारण

    गर्मी के सीजन में जंगल में आगजनी ज्यादा हुई, पेड़ों की संख्या कम होने से मिट्टी की पकड़ ढीली होने के वजह से बहाव में गति ज्यादा रही।

    जाल बनाकर पानी को रोकने की तैयारी

    डिप्टी कमिश्नर ईशा कालिया के निर्देश पर मृदा और जल संरक्षण विभाग के एसडीओ केशव कुमार और राजेश शर्मा ने भी इलाके का दौरा किया। उन्होंने बताया कि यहां पत्थर से जाल लगाकर पानी रोकने की संभावनाएं देखी जाएंगी और रिपोर्ट बनाकर डीसी को सौंपी जाएगी। वहीं, तलवाड़ा के नायब तहसीलदार गुरसेवक चंद, एसडीएम मुकेरियां, नगर पंचायत तलवाड़ा के ईओ ब्रिज मोहन त्रिपाठी, सेनेटरी इंस्पेक्टर सुलिंदर ठाकुर सभी ने स्थिति का जायजा लिया और मलबे को जल्द साफ करवाए जाने की प्रतिबद्धता जताई।

    फोटो और कंटेंट : रमन कौशल

  • 10 साल बाद बारिश से ऐसा सैलाब
    +2और स्लाइड देखें
  • 10 साल बाद बारिश से ऐसा सैलाब
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mukerian

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×