• Hindi News
  • Punjab News
  • Mukerian
  • हावड़ा 8 घंटे देरी से हुई रवाना, डीएमयू सहित 8 ट्रेनें रद्द, कुछ डायवर्ट
--Advertisement--

हावड़ा 8 घंटे देरी से हुई रवाना, डीएमयू सहित 8 ट्रेनें रद्द, कुछ डायवर्ट

रेलवे स्टेशन पर ऑटोमेटिक इंटरलॉकिंग सिस्टम स्थापित हो जाने के बाद लोगों को उम्मीद थी कि ट्रेनें अब तय समय पर...

Dainik Bhaskar

Aug 03, 2018, 03:00 AM IST
रेलवे स्टेशन पर ऑटोमेटिक इंटरलॉकिंग सिस्टम स्थापित हो जाने के बाद लोगों को उम्मीद थी कि ट्रेनें अब तय समय पर अमृतसर आएंगी और जाएंगी, लेकिन इसके उलट हो रहा है। रेलवे के अधिकारी इस सिस्टम को सही तरीके से नहीं चला पा रहे है। कहीं इसके कांटे अटक रहे है तो कहीं लूज पैकिंग होने की वजह से कांटा काम नहीं कर सका।

एक नंबर से पठानकोट लाईन के पास कांटा खराब हो गया, जिस कारण उसके पीछे खड़ी पठानकोट पैसेंजर ट्रेन रवाना नहीं हो सकी और उसे रद्द करना पड़ा। कांटा सही तरीके से न चल पाने के कारण कई ट्रेनें तो मानांवाला के पास ही खड़ी रहीं। दुर्ग एक्सप्रेस करीब तीन घंटे से अधिक समय तक यहां खड़ी रही। वहीं रेलवे स्टेशन पर ऑटोमेटिक इंटरलॉकिंग सिस्टम ठीक ढंग से चल पा रहा है कि नहीं उसकी सारी रिपोर्ट डीआरएम मांग रहे हैं। वीरवार को एडीआरएम एनके वर्मा को इस संबंधी आदेश दिए कि वह पल-पल इस पर नजर रखें। उसके बाद वर्मा भी स्टेशन पर डटे अधिकारियों के लगातार संपर्क में रहे।

45 मिनट से 8 घंटे तक लेट रही गाड़ियां : ऑटोमेटिक इंटरलॉकिंग सिस्टम में कई जगहों से कांटे खराब रहे, जिस कारण 45 मिनट से लेकर 8 घंटे तक ट्रेनें देरी से रवाना हुईं। अमृतसर-हावड़ा एक्सप्रेस (13006) 8 घंटे 35 मिनट की देरी से रवाना हुई। इसके अलावा दुर्ग्याणा एक्सप्रेस (12358) 8 घंटे 40 मिनट, कटिहार एक्सप्रेस (15708) 7 घंटे, छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस (18238) दो घंटे पांच मिनट, अमृतसर-नंगल डैम (14505) 1 घंटा 40 मिनट, शान-ए-पंजाब (12498) 1 घंटा 5 मिनट, अमृतसर-कादियां डीएमयू (74691) डेढ़ घंटे देरी से रवाना हुईं।

परेशानी

अमृतसर में नए ऑटोमेटिक इंटरलॉकिंग के सिस्टम में कहीं अटक रहे कांटे, तो कहीं पैकिंग हो रही लूज

पैसेंजर के चलने की अनाउंसमेंट हो रही थी लेकिन ऐन समय पर रद्द कर दी

प्लेटफार्म नंबर 1-ए पर खड़ी हिसार पैसेंजर ट्रेन (54602) करीब साढ़े चार बजे रवाना होने के लिए खड़ी थी। इसे चलाए जाने की अनाउंसमेंट भी हो रही थी, लेकिन जब चलाने का समय आया तो इसे रद्द ही कर दिया गया। सिस्टम चलता न देख फिरोजपुर रेलवे डिवीजन की तरफ से हावड़ा एक्सप्रेस (13050), अमृतसर-पठानकोट पैसेंजर (54615), अमृतसर-अटारी डीएमयू (74663), रावी एक्सप्रेस (14634), अमृतसर-पठानकोट डीएमयू (54611), अमृतसर-पठानकोट डीएमयू (54613), पठानकोट-अमृतसर (14634), पठानकोट-अमृतसर डीएमयू (54614) को रद्द कर दिया गया। पठानकोट-अमृतसर डीएमयू (54612) वेरका, लुधियाना-अमृतसर डीएमयू (64551) मानांवाला, अमृतसर-पठानकोट डीएमयू (14633) वेरका और अमृतसर-लुधियाना डीएमयू (64552) मानांवाला तक ही आईं। बठिंडा से रवाना होने वाली जम्मू तवी एक्सप्रेस (19225) और जम्मू से रवाना होने वाली (19226) 4 अगस्त तक वाया जालंधर, मुकेरियां पठानकोट होकर रवाना होंगी। इसके अलावा टाटा मूरी-जम्मू तवी (18102) 4 अगस्त तक वाया पठानकोट, मुकेरियां, जालंधर होकर चलेंग

सिस्टम सेट होने में 10-15 दिन लगेंगे

स्टेशन सुपरिंटेंडेंट आलोक मेहरोत्रा का कहना है कि अभी नया-नया सिस्टम है। यह भारत का बहुत बड़ा पैनल है और इसे चलाने में रेलवे के अधिकारीगण डटे हुए हैं। जैसे-जैसे खामियां नजर आ रही हैं, उन्हें ठीक किया जा रहा है और आने वाले 15 दिनों तक पूरी तरह से सिस्टम ठीक हो जाएगा। उन्होंने कहा कि वह लोगों की मुश्किलों को समझते हैं, लेकिन बावजूद इसके वह ट्रेनों को समय पर चला रहे हैं।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..