Hindi News »Punjab »Nangal» 75 एकड़ नाड़ जली, दो झुग्गियां भी राख

75 एकड़ नाड़ जली, दो झुग्गियां भी राख

गेहूं के नाड़ को आग न लगाने की नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) द्वारा की अपील का किसानों पर कोई प्रभाव नहीं दिख रहा...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 20, 2018, 02:25 AM IST

  • 75 एकड़ नाड़ जली, दो झुग्गियां भी राख
    +1और स्लाइड देखें
    गेहूं के नाड़ को आग न लगाने की नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) द्वारा की अपील का किसानों पर कोई प्रभाव नहीं दिख रहा है। लोग अभी भी नाड़ जला रहे हैं।

    शनिवार को रोपड़ के आस पास के क्षेत्रों में करीब 75 एकड़ नाड़ जल गई। गांव बेला में 20 एकड़, खोखरा और फतेहपुर में 50 एकड़, कोटला निहंग में 5 एकड़ नाड़ जलने के साथ गांव दुग्गरी में आग की चपेट में आकर दो झुग्गियां भी जल गईं। गत रात गांव कोटला निहंग में खेतों में गेहूं काटने के बाद एक किसान द्वारा खेतों में करीब 5 एेकड़ नाड़ को आग लगाने का मामला सामने आया है। आग किस ने लगाई है, इस बारे में कुछ पता नहीं चल सका। आग लगने के बाद काबू पाने के लिए गांव के लोग और नौजवान इकठ्ठा हो गए और आग पर काबू पाने की कोशिश की लेकिन आग पर काबू नहीं पाया जा सका। इसके बाद गांव के सरपंच नरिन्दर सिंह ने फायर ब्रिगेड विभाग और सिटी पुलिस को सूचित किया। इसके बाद देर रात पुलिस और फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों ने आग पर काबू पाया और इस मामले की गांववासियों से जानकारी एकत्रित की। गांव के सरपंच नरिन्दर सिंह ने बताया कि पिछले साल भी इन्हीं खेतों में गेहूं काटने के बाद नाड़ को आग लग गई थी और कारणों का पता नहीं चल सका था। उन्होंनेे कहा कि पिछले साल तो पानी की टंकी के पास पड़ी प्लास्टिक की पाइपों को भी आग लगने से काफी नुकसान हो गया था।

    हलका पटवारी बलविंदर सिंह ने जांच में पता चला है कि यह खेत किसान बचितर सिंह के हैं जिनकी मौत हो चुकी है। नाड़ को आग लगाने की रिपोर्ट तहसीलदार रोपड़ को सोमवार को दी जाएगी। थाना सिटी रोपड़ के एसएचओ गुरसेवक सिंह ने बताया कि गत रात नाड़ को आग लगने की सूचना मिलने से बाद पुलिस कर्मचारी मौके पर भेजे गए थे और कार्रवाई की जा रही है।

    नाड़ को लगी आग को गांववासियों, फायर ब्रिगेड और पुलिस कर्मियों ने बुझाया।

    नाड़ जलाने की जांच होगी : एसडीएम

    गांव कोटला निहंग में नाड़ जलाने का मामला मेरे ध्यान में है। मामले की पूरी जांच करने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। किसानों से अपील है कि गेहूं काटने के बाद नाड़ को आग न लगाए ताकि वातावरण में प्रदूषण न फैल सके। हरजोत कौर, एसडीएम रोपड़

    गांव तलवाड़ा के जंगलों में लगी आग से वनसंपदा जली

    नंगल सिटी | नंगल भाखड़ा डैम मुख्य मार्ग पर स्थित गांव तलवाड़ा के समक्ष जंगल में किसी शरारती तत्व की ओर से आग लगा देने से लाखों की वनसंपदा जलकर राख हो गई। वहीं जंगली-जीव जंतु भी इस आग की भेंट चढ़ गए। जानकारी देते समाजसेवक लखबीर लकी ने बताया कि सुबह करीब 10 बजे उन्हें पता चला कि उक्त जंगले में बहुत ही भयानक आग लग गई है। इसके बाद उन्होंने तुरंत बीबीएमबी तथा नगर कौंसिल की फायर ब्रिगेड की गाड़ियों को इसके बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि उस वक्त चल रही तेज हवाओं के कारण आग तेजी से बढ़ती गई जिस पर काफी मशक्कत के बाद काबू पाया जा सका। उन्होंने बताया कि अगर इस काम में थोड़ी देर हो जाती तो आग गांव तलवाड़ा की तरफ भी बढ़ सकती थी जिससे बहुत बड़ी दुर्घटना भी हो सकती थी।

  • 75 एकड़ नाड़ जली, दो झुग्गियां भी राख
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nangal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×