--Advertisement--

गेहूं संभालने में आढ़तियों के फूले हाथ-पांव

रोपड़ | बुधवार को बाद दोपहर तेज आंधी के बाद बादल छा गए। कुछ मिनटों में बारिश शुरू हो गई जोकि करीब 40 मिनट तक जारी रही।...

Danik Bhaskar | May 03, 2018, 02:50 AM IST
रोपड़ | बुधवार को बाद दोपहर तेज आंधी के बाद बादल छा गए। कुछ मिनटों में बारिश शुरू हो गई जोकि करीब 40 मिनट तक जारी रही। जिले की अनाज मंडियों में लिफ्टिंग नहीं होने के कारण गेहूं की बोरियों के लगे अंबार बारिश में भीग गए। गेहूं को ढकने के लिए आढ़तियों और मजदूरों के हाथ-पांव फूलने लगे क्योंकि जैसे ही मजदूर इन बोरियों को ढकने की कोशिश करते थे तो तेज आंधी के कारण तिरपालें भी हवा में उड़ती रही। गेहूं की बोरियों की लिफ्टिंग के समय बारिश बंद होने के बाद लेबर के लोग गाड़ियों में बोरियां लादते हुए देखे गए। बारिश के कारण सबसे ज्यादा नुकसान नंगल की मंडी में हुआ क्योंकि यह मंडी कच्ची है। इस कारण पूरी मंडी में बारिश का पानी भर गया। खरीद एजेंसियों के अधिकारियों द्वारा किए प्रबंधों में कमियों के चलते गेहूं ऊपर से भीग गई और जमीन पर खड़े पानी में भी डूब गई।