• Home
  • Punjab News
  • Nangal News
  • भक्त ध्रुव कलयुग में भी ध्रुव तारा के रूप मंे हैं मौजूद : श्री देवदत्त
--Advertisement--

भक्त ध्रुव कलयुग में भी ध्रुव तारा के रूप मंे हैं मौजूद : श्री देवदत्त

नया नंगल गीता मंदिर में श्री देवदत्त शास्त्री कथा प्रवचन करते हुए। नंगल| गीता मंदिर नया नंगल में श्रीमद भागवत...

Danik Bhaskar | May 10, 2018, 03:45 AM IST
नया नंगल गीता मंदिर में श्री देवदत्त शास्त्री कथा प्रवचन करते हुए।

नंगल| गीता मंदिर नया नंगल में श्रीमद भागवत महापुराण कथा समागम का आयोजन 6 मई से 13 मई तक किया जा रहा है। राष्ट्रपति सम्मानित वेदाचार्य स्वामी निगमबोध तीर्थ जी महाराज के शिष्य देवदत्त शास्त्री भगवान की महिमा का गुणगान कर संगत का मार्गदर्शन कर रहे है।

तीसरे दिन के समागम में देव दत्त शास्त्री ने ध्रुव चरित्र कथा का व्याख्यान किया। उन्होंने कहा कि श्रद्धालुओं भगवान की कथा श्रद्घाभाव व लगन से सुननी चाहिए। पांच वर्ष के बालक ध्रुव ने अपनी लगन से भक्ति कर छ: महीनों में भगवान के दर्शन कर लिए थे। ध्रुव आज कलयुग में भी उपस्थित है। हम सभी उनके ब्रह्मांड में ध्रुव तारे के तौर पर दर्शन करते है। अगर माता पिता बच्चों को बचपन में आध्यात्मिक संस्कार देते है। बच्चे का जीवन उसी प्रकार आध्यात्मिकता के साथ जुड़ता है। इस मौके पर आचार्य सुधीर, पंडित दिनेश और पंडित जीवन ने बताया के रोजाना कथा दोपहर 3.30 बजे से लेकर शाम 6.30 बजे होती है। उन्होंने बताया कि कथा के समापन पर 13 मई को भंडारे का आयोजन किया जाएगा।

गीता मंदिर में श्रीमद्भागवत महापुराण कथा समागम