लिफ्टिंग नहीं होने से जिले की मंडियों में अटका 49 हजार मीट्रिक टन धान

Nawashahar News - खरीद एजेंसियों के इंस्पेक्टरों की हड़ताल खत्म होने के बाद तीन दिन धान खरीद सुचारू चलने के बाद अब शैलर मालिकों की...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 08:11 AM IST
Nawanshahr News - 49 thousand metric tons of paddy stuck in the mandis of the district due to lack of lifting
खरीद एजेंसियों के इंस्पेक्टरों की हड़ताल खत्म होने के बाद तीन दिन धान खरीद सुचारू चलने के बाद अब शैलर मालिकों की हड़ताल के कारण बंद होने को है। कारण जिले की मंडियों में रोजाना करीब 10 हजार मीट्रिक टन धान की आमद हो रही है। अब तक 49 हजार मीट्रिक टन धान जिले की मंडियों में आ चुका है लेकिन अभी तक लिफ्टिंग न के बराबर है। धान न तो गोदामों में जा रहा है और न ही शैलर मालिक उठा रहे हैं। इस वजह सारा धान मंडियों में ही पड़ा है।

बता दें कि शैलर मालिक सरकार की मिलिंग पॉलिसी के विरोध में हड़ताल पर हैं। इस कारण जिले की मंडियों में धान की कुल खरीद में से 2 प्रतिशत धान की लिफ्टिंग प्राइवेट खरीददारों ने की है जबकि सरकारी खरीद एजेंसियों द्वारा खरीदा गया 98 प्रतिशत धान अभी मंडियों में ही पड़ा है। ऐसे में मंडियों में धान रखने की जगह ही खत्म होने लगी है। एक दो दिन में हालात ऐसे बनने जा रहे हैं कि आढ़तियों के पास मंडियों में धान रखने के लिए ही जगह नहीं होगी तो फिर खरीद कैसे हो पाएगी। शनिवार को मंडियों के हालात जानने के लिए दैनिक भास्कर की टीम ने नवांशहर मंडी का दौरा किया तो देखा, आढ़तियों ने मंडी की शैड को ऊपर तक धान की बोरियों से भर दिया है। वहां अब और धान रखने की जगह ही नहीं बची है। धान को अगर खुले में रखा गया तो उस पर मौसम की मार का खतरा रहेगा। किसानों द्वारा मंडी में लाए जा रहे धान को सुखाने व साफ करने की जगह भी नहीं बचेगी। जाहिर है कि ऐसे में किसानों और आढ़तियों का संकट बढ़ेगा।

नवांशहर मंडी में ही 3 लाख बोरी डंप...शैड में जगह नहीं बची, खुले में रखा धान

स्टेट कमेटी के फैसले के साथ ही जाएंगे : शैलर एसोसिएशन

शैलर एसोसिएशन के प्रधान दिनेश चोपड़ा और शंकर दुग्गल ने कहा कि प्रदेश कमेटी के फैसले पर उन्होंने फाइलें जमा करवा दी हैं। अब शैलरों को सोमवार तक अलाटमेंट भी हो जाने की उम्मीद है। रिवाइज पाॅलिसी में ब्याज वाली शर्त को हटाया गया है या नहीं, ये भी देखा जाएगा। ऐसे में शैलर मालिक एजेंसियों के साथ एग्रीमेंट 15 अक्टूबर की मीटिंग के बाद ही लेंगे। उसके बाद ही धान को लगवाने के संबंध में सही स्थिति का पता चलेगा।

धान की लिफ्टिंग शुरू नहीं हुई तो करेंगे बैठक : जस्सा सिंह

खरीद इंस्पेक्टर एसोसिएशन के प्रधान जस्सा सिंह ने कहा कि जिला प्रशासन के भरोसे पर वे खरीद कर रहे हैं लेकिन लिफ्टिंग नहीं होने से मंडियों में धान रखने के लिए जगह कम पड़ने लगी है। सोमवार तक अगर लिफ्टिंग शुरू नहीं हुई तो मंडियों में धान खरीद करने के लिए जगह ही नहीं बचेगी, तो फिर खरीद कैसे होगी। उन्होंने कहा कि सोमवार को इस मामले को लेकर सभी साथियों के साथ बैठक करके फैसला लिया जाएगा।

लिफ्टिंग करवाने को डीसी से मिलेंगे : आढ़ती एसोसिएशन

आढ़ती एसोसिएशन के जिला प्रधान मनजिंदर वालिया कहते हैं कि मंडियों में लिफ्टिंग की समस्या इस समय सबसे बड़ी समस्या बन गई है। मामले का अगर एक दो दिन में हल न निकला, तो इसे लेकर वे अपने साथियों को साथ लेकर डीसी से भी मिलेंगे। उन्होंने कहा कि पूरे पंजाब में ही ये समस्या बनी हुई है तथा प्रशासन को इसका जल्द से जल्द समाधान निकालना चाहिए, ताकि खरीद सुचारू रूप से चल सके।

डीसी ने कहा-एसडीएम खरीद पर नजर रखें; लिफ्टिंग पर नहीं बोले

धान खरीद को लेकर डीसी विनय बुबलानी ने शनिवार को खरीद एजेंसियों के प्रतिनिधियों व एमडीएम्स से मीटिंग की मगर वह लिफ्टिंग पर कुछ नहीं बोले। उन्होंने एमडीएम्स को अपनी-अपनी तहसील में धान खरीद पर नजर रखने और इसे सुचारू करवाने की हिदायत दी। उन्होंने कहा कि किसानों को किसी भी तरह की दिक्कत नहीं आनी चाहिए। साथ ही उन्होंने शाम 7 बजे से लेकर सुबह 10 बजे तक कंबाइनों के चलाने पर पाबंदी को भी सख्ती से लागू करने को कहा। उन्होंने कहा कि पराली जलाने वालों के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की जाएगी और ब्लाक के आधार पर बनी टीमें पराली के मामलों को सख्ती से देखें तथा तुरंत कार्रवाई की जाए।

एसडीएम्स के साथ मीटिंग करते डिप्टी कमिश्नर विनय बुबलानी।

Nawanshahr News - 49 thousand metric tons of paddy stuck in the mandis of the district due to lack of lifting
X
Nawanshahr News - 49 thousand metric tons of paddy stuck in the mandis of the district due to lack of lifting
Nawanshahr News - 49 thousand metric tons of paddy stuck in the mandis of the district due to lack of lifting
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना