• Home
  • Punjab News
  • Nawanshahr News
  • कर्ज माफी कार्यक्रम के लिए प्रबंध करना अफसरों के गले का फांस बनी
--Advertisement--

कर्ज माफी कार्यक्रम के लिए प्रबंध करना अफसरों के गले का फांस बनी

अमित शर्मा/दविंदर | नवांशहर किसानों के लिए कर्ज माफी योजना की वाहवाही लूटने को पंजाब सरकार की ओर से गुरदासपुर...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:45 AM IST
अमित शर्मा/दविंदर | नवांशहर

किसानों के लिए कर्ज माफी योजना की वाहवाही लूटने को पंजाब सरकार की ओर से गुरदासपुर में 5 अप्रैल को किए जा रहे कार्यक्रम के लिए जिले में लाखों रुपए खर्च होने का मामला सामने आया तो अफसरों ने अपना मुंह बंद करके एक-दूसरे पर बात डालनी शुरू कर दी है। जिला नवांशहर से करीब 2500 किसानों सहित कुल तीन हजार लोगों को गुरदासपुर के कार्यक्रम में ले जाने की योजना है।

शनिवार को दी नवांशहर सेंट्रल कोऑपरेटिव बैंक के हाल में डिप्टी रजिस्ट्रार मोहन सिंह और एसडीएम आदित्य उप्पल ने प्रबंधों को लेकर मीटिंग की, िजसमें तीन हजार लोगों को गुरदासपुर ले जाने के लिए बसों और उनके खाने होने वाले पर कोई अधिकारी नहीं बोला।

बता दें कि कैप्टन सरकार की ओर से गुरदासपुर में किसानों के कर्ज माफी घोषणा के लिए किए जाने वाले कार्यक्रम में किसानों को ले जाने के लिए बसें उपलब्ध करवाने की जिम्मेवारी जिला ट्रांसपोर्ट विभाग पर डाल दी गई है जबकि खाने का प्रबंध करने का जिम्मा कोआपरेटिव सोसायटियों पर डाला गया है। गुरदासपुर के कार्यक्रम में जिले से लोगों को ले जाने पर लगभग 10 लाख रुपए खर्च आने का अनुमान है और इस खर्च पर विपक्ष ने निशाना साधना शुरू कर दिया। किसानों को ले जाने पर होने वाला खर्च अब बगार (फ्री) में करने की कोशिशें तेज कर दी गई हैं। बसों का खर्च कौन उठाएगा, इस पर कोई भी अधिकारी कुछ बोलने को तैयार नहीं।

सूत्रों के अनुसार जिले से 62 बसों के जरिए किसानों को गुरदासपुर ले जाया जाएगा और हर बस में 40 से 52 सवारियां बिठाई जाएंगी। किसानों की कम संख्या वाली दो-तीन सोसायटियों को एक बस अलाट की गई है। कोऑपरेटिव बैंकों के मैनेजर या सहायक मैनेजर खुद अपनी ब्रांच से अपने नजदीकी सोसायटी में उस दिन बस लेकर पहुंचेंगे और किसानों को खाने के पैकेट भी देंगे। लेकिन इस पर पैसा किस मद से खर्चे, यह तय नहीं है। कर्ज माफी कार्यक्रम को लेकर प्रशासन खासी मशक्कत कर रहा है। कोआॅपरेटिव सोसायटी के डिप्टी रजिस्ट्रार मोहन सिंह ने किसानों को गुरदासपुर ले जाने के लिए बसों का प्रबंध करने का ट्रांसपोर्ट विभाग को कहा है, जबकि खाने का प्रबंध फिलहाल सोसायटियां अपने स्तर पर देख रही हैं। खाने के लिए पैसे कहां से आएंगे, इस पर उन्होंने कुछ नहीं कहा। उधर, इस मामले में एसडीएम कम डीटीओ आदित्य उप्पल ने कहा कि किसानों को ले जाने का प्रबंध करना कोआपरेटिव विभाग का ही है।

मीटिंग में सोसायटियों के सचिवों को संबोधित करते एसडीएम आदित्य उप्पल और डीआर मोहन सिंह।

तीन हजार किसानों का 18 करोड़ होगा माफ

जिले में 142 सोसायटियों से जुड़े करीब 3 हजार किसानों के कर्ज माफी पर मोहर लग चुकी है और गुरदासपुर के कार्यक्रम में इन सभी को कर्ज माफी के सर्टिफिकेट दिए जाएंगे। जिले में वेतनभोगी, इनकम टैक्स पेयर के स्वै-घोषणा के बाद करीब तीन हजार किसान ही ऋण माफी में आए हैं, जिनका 18 करोड़ का कर्ज माफ होगा।

वीरवार को रहेगी बसों की दिक्कत

जिला नवांशहर से 5 अप्रैल बुधवार को अगर 62 मिनी व बड़ी प्राइवेट बसें गुरदासपुर के िलए भेजी गई तो उस दिन ग्रामीण इलाकों में लोगों को यातायात की दिक्कत भी आएगी। ट्रांसपोर्ट विभाग के सूत्रों की माने तो अगर कार्यक्रम के लिए जाने के लिए बसें मुहैया भी करवा दी जाएं तो भी कम से काम तेल खर्च तो देना ही पड़ेगा तथा उस पर भी अभी तक कोई फैसला नहीं हो पाया है।